मुख्यपृष्ठअपराधबहू का कटा सिर लेकर पैदल पहुंची थाने, ...गेट पर फेंक कर...

बहू का कटा सिर लेकर पैदल पहुंची थाने, …गेट पर फेंक कर बोली- मैंने काटा

सास को था चरित्र पर शक
सामना संवाददाता / अन्नम्माय्या
आंध्र प्रदेश के अन्नम्माय्या जिले में एक दिल दहला देनेवाला मामला सामने आया है, रायचोटी शहर के रामापुरम इलाके में सुब्बाम्मा नामक महिला ने अपनी बहन की ३५ वर्षीया पुत्रवधु वसुधा (काल्पनिक नाम) का सिर काट दिया। इतना ही नहीं, वह बाद में कटा सिर हाथ में लेकर लोगों के बीच चलते हुए पुलिस थाने पहुंच गई। थाने के गेट पर बहू का कटा सिर फेंककर उसने चाकू के साथ आत्मसमर्पण कर दिया। बताया जा रहा है कि सास को बहू के चरित्र पर संदेह हो गया था। इस पर बहू से उसकी तकरार होती थी। बहू ने सास को मारने की धमकी दी थी। धमकी से डरी सास ने बहू को मौत के घाट उतार दिया।
पुलिस के अनुसार रामापुरम इलाके में रहनेवाली वसुधा के पति राजा की दस साल पहले किसी हादसे में मौत हो गई थी, तब से वसुधा अपने दोनों बच्चों के साथ अपनी छोटी सास यानि पति की मौसी के साथ रह रही थी। लेकिन सास को कुछ दिनों से वसुधा में बदलाव नजर आया। उसे शक हो गया था कि वसुधा का मल्लेश (बदला हुआ नाम) के साथ अवैध संबंध चल रहा है, जिसकी वजह से दोनों के बीच अक्सर बहस और झगड़ा होता था। इस वजह से दोनों के बीच तनाव बढ़ने लगा था। कल सुबह दोनों के बीच इसी बात पर बहुत झगड़ा हुआ और बहू वसुधा ने छोटी सास को मार देने की धमकी दी, तो छोटी सास को यह डर लगा कि कहीं बहू अपने प्रेमी के साथ मिलकर उसे मारकर संपत्ति पर कब्जा कर लेगी तो पोतियों के लिए कुछ नहीं रह जाएगा।

भाई के बेटे की ली मदद
पुलिस अधिकारी ने बताया कि सास ने अपने भाई के बेटे के साथ मिलकर वसुधा की नृशंस तरीके से हत्या कर दी और चाकू से सिर को काटकर धड़ से अलग कर दिया। घटना के समय वसुधा की दोनों बेटियां स्कूल गई हुई थीं।

अन्य समाचार