मुख्यपृष्ठनए समाचारकिसी का इस्तेमाल कर उसे फेंक देना गलत! नितिन गडकरी का...

किसी का इस्तेमाल कर उसे फेंक देना गलत! नितिन गडकरी का छलका दर्द

सामना संवाददाता / मुंबई
किसी का इस्तेमाल करके, जरूरत खत्म होने पर उसे फेंक देना अच्छी बात नहीं है। कल नागपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यह बयान देकर चर्चाओं का बाजार गर्म कर दिया है। दरअसल उनके इस बयान को भाजपा के संसदीय बोर्ड से उनका नाम हटाए जाने के मामले से जोड़कर देखा जा रहा है।
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी अपने रोखठोक बोलने के अंदाज के कारण हमेशा चर्चा में रहते हैं। उनके मन में जो है, वे बोलकर मुक्त हो जाते हैं, इसलिए सबका ध्यान उनके बयानों पर लगा रहता है। नितिन गडकरी अपने बोलने के अंदाज से एक बार फिर चर्चा में आ गए हैं। कुछ दिनों पहले भाजपा ने केंद्रीय संसदीय बोर्ड का एलान किया था। उसमें गडकरी का नाम नहीं था। उनका नाम हटा दिया गया था। इसलिए गडकरी का यह बयान राजनीतिक हलकों में चर्चा का विषय बना हुआ है। नागपुर में उद्यमियों द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि किसी का इस्तेमाल करना और जरूरत खत्म होने के बाद उसे फेंक देना गलत है। दिन अच्छा हो या बुरा, किसी का हाथ थाम लो तो कभी साथ नहीं छोड़ना चाहिए। न केवल उगते सूर्य बल्कि डूबते सूर्य की भी पूजा करनी चाहिए। इस मौके पर कारोबारियों को संबोधित करते हुए गडकरी ने रिचर्ड निक्सन का उदाहरण दिया और कहा कि किसी व्यक्ति का हारने से अंत नहीं होता। एक व्यक्ति तब समाप्त होता है, जब वह कोशिश करना बंद कर देता है। इसलिए आप कभी भी कोशिश करना बंद न करें। व्यापार, समाज सेवा और राजनीति के क्षेत्र में जनसंपर्क ही उस व्यक्ति की असली ताकत है। इसलिए जनसंपर्क बढ़ाने के लिए सचेत प्रयास किए जाने चाहिए।

अन्य समाचार