मुख्यपृष्ठनए समाचारपश्चिम रेलवे पर १२ घंटे अटकी रहीं ट्रेनें, यात्री हुए परेशान 

पश्चिम रेलवे पर १२ घंटे अटकी रहीं ट्रेनें, यात्री हुए परेशान 

अभिषेक कुमार पाठक / मुंबई 
मुंबई से सटे महाराष्ट्र के पालघर जिले में दहाणूू स्टेशन के पास ओवरहेड उपकरण ‘खराब’ होने के कारण पश्चिमी रेलमार्ग पर गुजरात की तरफ जाने वाली ट्रेनें लगभग १२ घंटे तक रुकी रहीं। मुंबई और अमदाबाद के बीच ट्रेन यात्रा में आम तौर पर लगभग आठ घंटे लगते हैं, लेकिन इस खराबी की वजह से यात्रा कर रहे यात्रियों को काफी ज्यादा समय लगा। मिली जानकारी के अनुसार, रात ११ बजे दहाणूू रोड स्टेशन पर ओएचई ब्रेक डाउन हो गया था। पश्चिम रेलवे के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) ने बताया कि दहाणूू रोड और वानगांव स्टेशनों के बीच ओएचई टूटने के कारण डाउन दिशा की विभिन्न ट्रेनें विलंबित हो गई हैं। यात्रियों की सहायता के लिए विभिन्न स्टेशनों पर हेल्प डेस्क लगाए गए हैं। रात ११ बजे दहाणूू रोड स्टेशन पर ओएचई ब्रेक डाउन की वजह से कई ट्रेन वैंâसिल और रीशेड्यूल हुई। मिली जानकारी के अनुसार, इस रूट पर १२ एक्सप्रेस विलंबित हुई हैं, वहीं विरार से ७ मेमू और १२ दहाणूू लोकल ट्रेनों को रद्द किया गया है। इन रद्द और रीशेड्यूल  ट्रेनों की वजह से यात्री काफी परेशान दिखे।
यात्री हुए परेशान
यात्रियों, कर्मचारियों और छात्रों को भारी असुविधा हुई है। चूंकि उपनगरीय ट्रेनें देरी से चल रही थींr, इसलिए दहाणूूू, वानगांव, बोइसर, उमरोली, पालघर, केलवे रोड, सफाले और वैतरणा स्टेशनों पर यात्रियों की भारी भीड़ थी, जिन यात्रियों और छात्रों को काम और स्कूल-कॉलेज जाने में दिक्कत होती थी, उनकी सुविधा के लिए उन्हें कुछ हद तक लंबी दूरी की ट्रेनों में यात्रा करने की अनुमति दी गई। इस बीच, मुंबई सेंट्रल और दादर स्टेशनों से प्रस्थान करने वाली कुछ लंबी दूरी की ट्रेनों के शेड्यूल में बदलाव किया गया है।
एक अधिकारी ने अपनी पहचान छुपाते हुए बताया की ओएचई ब्रेक डाउन की वजह गाड़ियों की आवाजाही में काफी कमी आई है। एक किलोमीेटर तक डाउन लाइन वानगांव से दहाणू के बीच ओएचई वायर टूट गया था, इस वजह से होम सिग्नल भी बंद पड़ गया था। गाड़ियों को ले जाने के लिए डीजल इंजन का इस्तेमाल किया गया उसके बाद आगे इलेक्ट्रिक सेवा दी गई।

अन्य समाचार