मुख्यपृष्ठनए समाचार२० महीने में दो लाख किलो प्लास्टिक जप्त!...प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग पर...

२० महीने में दो लाख किलो प्लास्टिक जप्त!…प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग पर कड़ी कार्रवाई

सामना संवाददाता / मुंबई। महानगर में प्रदूषण नियंत्रण और नालों में जाम की समस्या को देखते हुए मनपा ने वर्ष २०१८ में ही सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग पर बैन लगाया था। तब से लेकर मनपा की ओर से जगह-जगह छापेमारी कर कार्रवाई की जा रही है। पिछले २० महीने में मनपा ने लगभग २ लाख किलो प्रतिबंधित प्लास्टिक जप्त किया है। जनवरी २०२२ तक कुल एक लाख ८० हजार किलो जप्त किया गया था। मनपा ने अब तक कार्रवाई करते हुए ५ करोड़ रुपए से अधिक दंड लगाया है। लगभग ४० लाख रुपए की वसूली भी की गई है।
बता दें कि मनपा द्वारा मुंबईकरों से लगातार प्रतिबंधित प्लास्टिक के उपयोग से बचने की अपील की जा रही है। नहीं माननेवाले और प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग करनेवालों पर जुर्माना भी लगाया जा रहा है। बेहतर पर्यावरण के लिए यह कार्रवाई की जा रही है। हालांकि आम जनता, व्यापारियों, फेरीवालों और सभी संबंधितों से प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग न करने की अपील के साथ-साथ जनजागृति भी की जा रही है।
कितना है जुर्माना?
प्रतिबंधित प्लास्टिक के साथ पाए जाने पर ५ हजार रुपए से लेकर २५ हजार रुपए तक का दंड प्रस्तावित है। पहली बार पकड़े जाने पर ५ हजार रुपए, दूसरी बार के लिए १० हजार रुपए, तीसरी बार पकड़े जाने पर २५ हजार रुपए और ३ महीने की वैâद की सजा है।
मार्च २०१८ में आई थी अधिसूचना
बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने २३ मार्च २०१८ की अधिसूचना जारी कर ७५ माइक्रोन से पतली प्लास्टिक (उत्पादन, उपयोग, बिक्री, परिवहन, संचालन और भंडारण) पर प्रतिबंध लगा गया है। इसमें प्रतिबंधित प्लास्टिक बैग, प्लास्टिक डिस्पोजेबल वस्तु जैसे ट्रे, कप, प्लेट, गिलास, चम्मच आदि का उपयोग होटलों में खाद्य पैकेजिंग के लिए शामिल है।

अन्य समाचार