मुख्यपृष्ठनए समाचारशिवसेना किसान संवाद सम्मेलन : बुलढाणा में गरजेगी उद्धव ठाकरे की तोप

शिवसेना किसान संवाद सम्मेलन : बुलढाणा में गरजेगी उद्धव ठाकरे की तोप

सामना संवाददाता / मुंबई
शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे की तोप आज बुलढाणा में गरजेगी। आज बुलढाणा के चिखली में उद्धव ठाकरे किसान सम्मेलन को संबोधित करेंगे। ऐसे में उनके भाषण की तरफ पूरे महाराष्ट्र का ध्यान टिका हुआ है। बुलढाणा के चिखली स्थित तालुका मैदान में शिवसेना ने किसान संवाद सम्मेलन का आयोजन किया है। दोपहर ३ बजे यह सम्मेलन शुरू होगा और इस सम्मेलन को उद्धव ठाकरे संबोधित करेंगे। इस मौके पर किसान आत्महत्या, जल-आपदा, सरकार की तरफ से नुकसान-भरपाई मिलने में होनेवाले विलंब सहित अन्य विषयों पर उद्धव ठाकरे मिंधे सरकार पर जोरदार हमला बोलेंगे, ऐसी संभावना है।
कोश्यारी और गद्दारों की खबर लेंगे
छत्रपति शिवाजी महाराज का अपमान करनेवाले भाजपा के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को महाराष्ट्र से वापस बुलाया जाए, ऐसी मांग उद्धव ठाकरे ने दिल्ली में केंद्र सरकार से की है। इस मामले में महाराष्ट्र बंद करने अथवा विराट मोर्चा निकालने की चेतावनी भी उन्होंने दी है। इसलिए इस पर चिखली के सम्मेलन में उद्धव ठाकरे क्या अपील करते हैं, इस पर शिवसैनिक और महाराष्ट्र की नजरें टिकी हैं। विदर्भ में बुलढाणा को शिवसेना के गढ़ के रूप में जाना जाता है। इस जिले में सांसद प्रतापराव जाधव, विधायक संजय गायकवाड और संजय रायमूलकर इन तीनों ने गद्दारी की है और वे मिंधे गुट में चले गए हैं। इन गद्दारों को किन शब्दों में उद्धव ठाकरे फटकारते हैं, इसे लेकर शिवसैनिकों में उत्सुकता है।
मिंधे को सम्मेलन से डर, नियमों के सहारे रोड़ा
ठाकरे की जोरदार सभा से मिंधे सरकार डर गई है। इसलिए इस सम्मेलन की अनुमति देते हुए पुलिस ने कई शर्तें लगा दी हैं। सम्मेलन में बालासाहेब ठाकरे अमर रहें और उद्धव ठाकरे आगे बढ़ो, सिर्फ यही दो नारे लगाने की शर्त रखी गई है। मशाल जलाने के लिए विस्फोटक व ज्वलनशील पदार्थ का उपयोग न करें। सभा स्थल पर किसी की भी भावना दुखाने वाले पोस्टर न लगाएं। भाषण में कोई भी व्यक्ति जाति-धर्म पर टीका-टिप्पणी अथवा लोगों की भावना दुखाने वाली बातें नहीं कहेगा, ध्वनि प्रदूषण न हो इसका ध्यान रखा जाए, ऐसी शर्तें पुलिस ने लगाई हैं।

अन्य समाचार