मुख्यपृष्ठनए समाचारअघोषित लाॅकडाउन की ओर बढ़ता ड्राइवरों की हड़ताल

अघोषित लाॅकडाउन की ओर बढ़ता ड्राइवरों की हड़ताल

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ
मोटर वाहन अधिनियम के अंतर्गत हिट-एंड-रन केस के मामलों के लिए नए कानून का उत्तर प्रदेश में बड़े वाहन चालकों ने जमकर विरोध किया। इसका शुरुआती असर सब्जी, फल और पेट्रोल डीजल की आपूर्ति पर देखने को मिल रहा है। हाइवे की स्थित धीरे-धीरे स्थित अघोषित लॉक डाउन की ओर जा रही है। सब्जियों और फलों की आपूर्ति प्रभावित होने से दाम में उछाल आ गया है। बाहर से आनेवाली सब्जियां 100 रुपए में 5 किलो मिलने वाला आलू 125 में 5 किलो बिकने लगा है। 30 रुपए किलो बिकने वाला मटर 70-75 रुपए किलो बिकने लगा है। लोकल पैदावार से सब्जी मंडियों में आनेवाले हरी धनिया, सोया, प्याज पत्ता, पालक आदि भी महंगे हो गये हैं। पुलिस अभिरक्षा में दूध और डीजल -पैट्रोल की आपूर्ति हो रही है लेकिन कई जिलों में हड़ताली ड्राइवरों के तगड़े विरोध के चलते यह गंतव्य तक नहीं पहुंच पाये। जिसका सबसे ज्यादा असर डीजल-पैट्रोल पर पड़ा है। यूपी में लगभग सभी पेट्रोल पम्पों पर लंबी-लंबी लाइनें होने की खबर आ रही है। कई पम्पों पर तेल खत्म होने की भी सूचना है।

केन्द्र सरकार के कानून को लेकर हड़ताल कर रहे ड्राइवर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष का कहना है कि यह कानून सब पर लागू है न कि अकेले ट्रक ड्राइवरों पर ही लागू होगा। इसलिए सभी लोग हड़ताल को समर्थन दें। बता दें कि नए नियम के तहत अगर एक्सीडेंट में किसी की मृत्यु हो जाती है और ड्राइवर घटना स्थल फरार हो जाता है तो ऐसी दशा में उसे 10 साल की सजा के साथ-साथ भारी जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। अगर ड्राइवर घटनास्थल पर रहता है तो स्थानीय भीड़ उसे मार डालेगी।  इस नए कानून के विरोध में प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में वाहन चालकों चक्का जाम कर प्रदर्शन किया। इस दौरान कई जगहों पर प्रदर्शनकारियों और पुलिस में झड़प की भी खबरें आई हैं। गोंडा में विरोध प्रदर्शन कर रहे वाहन चालकों ने जमकर हंगामा किया। फिरोजाबाद, मैनपुरी में इस कानून के विरोध में नेशनल हाईवे जाम किया गया। जिसके चलते वाहन चालकों पर आंसू गैस के गोले छोड़े गए। पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया।
यूपी में डीजल-पेट्रोल की किल्लत बढ़ने की सूचना से लोग पैट्रोल पंपों पर भीड़ बढ़ा दिए हैं। लखनऊ में पेट्रोल पंप पर भारी भीड़ उमड़ पड़ी हैं। उत्तर प्रदेश में करीब 8,500 पेट्रोल पम्प हैं। लखनऊ में इनकी सख्या 250 से ज़्यादा है। नए कानून के विरोध में ट्रक ड्राइवरों की हड़ताल के चलते पेट्रोल पंप पर तेल की सप्लाई बाधित हो गयी है। जिसके चलते कुछ पेट्रोल पम्प पर तेल खत्म होने की खबरे भी आने लगी है। जिस पेट्रोल पंप के पास तेल है वहाँ भीड़ भी ज्यादा लग रही है।

जनता हड़ताल की ख़बर सुनकर अपनी गाड़ियों तेल फूल टैक भरवा रही है।पेट्रोल डीलर एसोसिएशन का कहना है कि केंद्र सरकार के कानून के ख़िलाफ़ ट्रक ड्राइवर हड़ताल पर चले गये है।इस लिए पेट्रोल डीजल की सप्लाई बाधित हों रही है।बस-ट्रक टैम्पो सब ठप होने के चलते धीरे-धीरे स्थित अघोषित लॉक डाउन जैसी होती जा रही है।

अन्य समाचार