मुख्यपृष्ठसमाचारचाचा ‘पीएम’ होंगे हमारे! नीतिश के राजनैतिक ‘भतीजे’ को सीएम के ‘तेजस्वी’...

चाचा ‘पीएम’ होंगे हमारे! नीतिश के राजनैतिक ‘भतीजे’ को सीएम के ‘तेजस्वी’ भविष्य का है भरपूर भरोसा

सामना संवाददाता / पटना
सहयोगियों और विरोधियों को खत्म करके पूरे देश पर अकेले राज करने का मंसूबा पाल रही भारतीय जनता पार्टी को बिहार में नीतीश कुमार ने जोर का झटका दिया। नीतीश के इस कदम से हताश लग रहे तमाम विपक्षी दलों को नया जोश मिल रहा है। २०२४ में होनेवाले लोकसभा चुनाव में भाजपा नीत एनडीए के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपना साझा उम्मीदवार मैदान में उतारने की सलाह तो तमाम विपक्ष दल दे रहे हैं लेकिन योग्य उम्मीदवार के नाम पर सहमति नहीं बन पा रही है। ऐसे में भतीजे यानी लालू यादव के सुपुत्र और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ‘चाचा’ यानी बिहार के सीएम नीतीश कुमार को विपक्ष की ओर से पीएम पद का उम्मीदवार बनाने का सुझाव दिया है।
बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने २०२४ के लोकसभा चुनाव को लेकर दावा किया है कि नीतीश कुमार पीएम पद के लिए मजबूत उम्मीदवार हो सकते हैं। तेजस्वी यादव ने कहा है कि अगर विपक्ष नीतीश कुमार के नाम पर विचार करता है तो वह २०२४ में प्रधानमंत्री पद के लिए ‘मजबूत उम्मीदवार’ हो सकते हैं। तेजस्वी ने कहा कि बिहार में महागठबंधन सरकार विपक्षी एकता के लिए अच्छा संकेत है, यह दिखाता है कि अधिकतर दल देश के समक्ष खड़ी बड़ी चुनौती को पहचानते हैं। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय दलों, अन्य प्रगतिशील राजनीतिक समूहों को संकीर्ण लाभ, हानि से परे देखना होगा और गणतंत्र को बचाना होगा। इससे पहले जेडीयू के वरिष्ठ नेता उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश को पीएम पद का मैटेरियल बताते हुए कहा था कि पूरा देश उनका इंतजार कर रहा है। इसी तरह जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह ने बयान देते हुए कहा, ‘नीतीश कुमार का मुख्य ध्यान २०२४ के लोकसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से मुकाबला करने के लिए विपक्षी दलों को एकजुट करने पर है।’

अन्य समाचार