मुख्यपृष्ठसमाचारजाली मुद्रा चलाने वाले गिरोह का यूपी ATS ने किया खुलासा

जाली मुद्रा चलाने वाले गिरोह का यूपी ATS ने किया खुलासा

– भारतीय जाली मुद्रा 97 हजार 500 रुपए के साथ दो गिरफ्तार

उमेश गुप्ता / वाराणसी

बांग्लादेश से पश्चिम बंगाल के रास्ते तस्करी कर उत्तर प्रदेश में जाली मुद्रा चलाने वाले गिरोह का यूपी ATS ने खुलासा किया है। इस संबंध में दो अपराधियों को भारतीय जाली मुद्रा 97 हजार 500 रुपए के साथ एटीएस की वाराणसी यूनिट की टीम ने वाराणसी-आजमगढ़ मार्ग स्थित लालपुर पांडेयपुर थाना क्षेत्र के सोयेपुर से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपित दीपक कुमार और चंदन सैनिक दोनों प्रतापगढ़ के रानीगंज के निवासी हैं। एटीएस की टीम दोनों आरोपितों से पूछताछ कर रही है। आरोपितों के पास से बंगाल आने-जाने का फ्लाइट टिकट भी बरामद किया गया है।
यूपी एटीएस के अनुसार, सूचना मिली थी कि उत्तर प्रदेश से कुछ लोग पश्चिम बंगाल के भारतीय जाली नोट तस्करों के गिरोह के संपर्क में हैं और पश्चिम बंगाल के मालदा से भारतीय जाली मुद्रा, जो बांग्लादेश में छपती है, उसे उत्तर प्रदेश के अलग-अलग जिलों में सप्लाई करते हैं। गिरफ्तार दोनों आरोपित दीपक कुमार व चंदन सैनिक तस्कर हैं। दोनों की लगातार तस्करी व अन्य आपराधिक कार्यों में संलिप्तता रही है। दीपक कुमार पूर्व में गांजा तस्करी के मामले में थाना मांधाता प्रतापगढ़ से और चंदन सैनिक दो बार गांजा तस्करी व वाहन चोरी में जेल जा चुका है। गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में भी जानकारियां जुटाई जा रही हैं।
साल 2019 में वाराणसी में एटीएस और पुलिस ने मिलकर वाराणसी के कैंट इलाके से जाली नोटों के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया था। उसके पास से दो लाख दस हजार रुपए की जाली भारतीय मुद्रा बरामद हुई थी। गिरफ्तार दीपक साहनी पूर्वी चंपारण बिहार के हर सीधी के वॉर्ड दुदही निवासी था। आरोपित पश्चिम बंगाल के मालदा से नकली भारतीय मुद्रा लेकर हरियाणा जा रहा था।
इसी तरह आतंकवाद निरोधक दस्ता ने जाली नोटों का धंधा करने वाले दो तस्करों को वाराणसी के सिगरा इलाके से गिरफ्तार किया था। इनके कब्जे से करीब दो लाख रुपए की जाली भारतीय मुद्रा बरामद की गई थी। दोनों की पहचान झारखंड के रांची के जगन्नाथपुर निवासी सत्तार अंसारी और नेजमननगर निवासी दानिश अंसारी के रूप में की गई थी। इस मामले में वाराणसी के सिगरा थाना में मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। इनका भी कनेक्शन पश्चिम बंगाल के मालदा से जुडे रहे।

अन्य समाचार