मुख्यपृष्ठनए समाचारयूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई... एंबुलेंस में धान ढुलाई!

यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई… एंबुलेंस में धान ढुलाई!

-धान उतारते हुए वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

योगेंद्र सिंह ठाकुर / मुंबई

यूपी में स्वास्थ्य सेवा का दारोमदार डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक के हाथों में है, फिर भी स्वास्थ्य विभाग के अच्छे दिन नहीं आ सके हैं। प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था चरमराई हुई है। यहां सरकारी एंबुलेंस से धान ढोया जा रहा है, वहीं सरकारी अस्पताल में मरीजों को ठंड में कंबल तक नसीब नहीं हो रहे हैं।
रायबरेली के ऊंचाहार का सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें सरकारी एंबुलेंस से स्टाफ धान की बोरियां उतारकर दो लोगों को दे रहे हैं। दोनों व्यक्ति बोरियां एंबुलेंस से उतारकर सड़क पर रख रहे हैं। इससे प्रतीत हो रहा कि सवारी तक एंबुलेंस से ढोई जा रही है। बताया जा रहा है कि वायरल वीडियो ऊंचाहार विधानसभा के रोहनिया सीएचसी का है। इस मामले में सीएमओ डॉक्टर वीरेंद्र सिंह ने संज्ञान लिया और एंबुलेंस चालक मामले में जांच शुरू कर दी है।
अस्पताल में चादर-कंबल की कमी
उधर मौसम ने एकाएक करवट बदला है। दो दिनों के अंदर खासा ठंड बढ़ गई है, लेकिन रायबरेली जिला अस्पताल में मरीजों के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया। आलम ये है कि ठंड में कंबल के बिना ही मरीज बेड पर लिटाए गए हैं। इसका वीडियो भी सामने आया है। हालांकि, इस मामले में स्वास्थ्य अधिकारी का कहना है कि अस्पताल में चादर और कंबल की कोई कमी नहीं है। ये सिस्टर की कमी है। मेरा निर्देश है कि मरीज को चादर और कंबल जरूर दिया जाए।

अन्य समाचार