मुख्यपृष्ठअपराधइंजीनियरिंग की पढ़ाई का आतंक में इस्तेमाल! ... शाहनवाज है बम बनाने का...

इंजीनियरिंग की पढ़ाई का आतंक में इस्तेमाल! … शाहनवाज है बम बनाने का मास्टर  

•  प्रेम जाल में फंसाकर पत्नी बसंती को बनाया मरियम
सामना संवाददाता / मुंबई 
दिल्ली में आईएसआईएस के आतंकियों की तलाश कर रही दिल्ली पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आईएसआईएस के तीन संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार संदिग्धों के नाम शाहनवाज उर्फ शैफी उज्जमा, मोहम्मद रिजवान और मोहम्मद अरशद वारसी हैं। शाहनवाज के ठिकाने से आईईडी बनाने का सामान और पिस्टल बरामद हुआ है। माइनिंग इंजीनियरिंग की पढ़ाई किए हुए शाहनवाज ने हिंदू लड़की बसंती पटेल से शादी कर उसका धर्म परिवर्तन कर मरियम बना दिया। जांच और पूछताछ में ये बात सामने आई है कि ये सभी अलग-अलग तंजीम से ऑनलाइन जुड़े हुए थे। इन लोगों ने पुणे में बम बनाने की ट्रेनिंग लेने के बाद मुंबई और अमदाबाद में रेकी की थी। बता दें कि शाहनवाज का नाम सबसे पहले तब सामने आया जब पुणे पुलिस ने इमरान और यूसुफ को पकड़ा। ये दोनों मोटरसाइकिल चोरी करते हुए पकड़े गए थे। मगर शाहनवाज फरार हो गया था। शुरुआत में पुणे पुलिस को लगा था कि ये छोटे-मोटे चोर होंगे लेकिन पूछताछ में पता चला कि ये सिर्फ चोर नहीं बल्कि आइसिस के आतंकवादी हैं। वहां के स्लीपर सेल का हिस्सा हैं। राजस्थान पुलिस इनकी तलाश कर रही है। तब उन्हें गिरफ्तार कर पहले एटीएस ने जांच शुरू की।
एनआईए को ट्रांसफर हुआ केस
मामले की गंभीरता को देखते हुए इसे एनआईए को ट्रांसफर किया गया था। उसकी जांच में भिवंडी से पिता पुत्र को गिरफ्तार किया गया था। इस तरह जांच करते हुए सात लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इसके साथ ही तीन लोगों का फोटो भी जारी किया था जिसमें शाहनवाज, रिजवान और अरशद का नाम शामिल था, इन पर तीन-तीन लाख रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार शाहनवाज और उसके साथियों ने पश्चिमी और उत्तरी भारत में रेकी की थी और यहां काफी दिन बिताए थे।

अन्य समाचार