मुख्यपृष्ठनए समाचारआरपीएफ कांस्टेबल बना कबाड़ी! ... रेलवे का भंगार बेचकर करता था कमाई

आरपीएफ कांस्टेबल बना कबाड़ी! … रेलवे का भंगार बेचकर करता था कमाई

• आरपीएफ ने किया गिरफ्तार
कुमार नागमणि / मुंबई
मध्य रेलवे आरपीएफ के सीएसटीएम में तैनात एक कांस्टेबल द्वारा कबाड़ी का कारोबार किए जाने का खुलासा हुआ है। वाड़ी बंदर में रेलवे का भंगार चोरी करते हुए एक कांस्टेबल को रंगेहाथों आरपीएफ ने ही गिरफ्तार कर लिया है। सूत्रों की माने तो गिरफ्तार कांस्टेबल पिछले कई वर्षों से कुछ अधिकारियों के साथ मिलकर रेलवे का भंगार चोरी-छिपे बेचकर मोटी कमाई कर रहा था। फिलहाल वाड़ी बंदर आरपीएफ ने जांच शुरू कर दी है। वाड़ी बंदर आरपीएफ ने सीएसटीएम आरपीएफ स्पेशल टीम में तैनात कांस्टेबल को भंगार चोरी करते हुए बुधवार को रंगेहाथों पकड़ा था। पहले तो कांस्टेबल ने अधिकारियों को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन जिस रिक्शे में भंगार भरा जा रहा था, उस पर कार्रवाई करने का डर दिखाए जाने पर असलियत कबूल कर ली। इस मामले में वाड़ी बंदर आरपीएफ ने आरपीयूपी एक्ट के तहत शिकायत दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है।

हकीकत छिपाने की कोशिश
वाड़ी बंदर आरपीएफ इंस्पेक्टर ने बताया कि इस मामले की जांच शुरू है लेकिन इस संदर्भ में अधिक जानकारी नहीं दे सकते है। वहीं, आरपीएफ मुंबई डिवीजन के पूर्व सचिव डीसी पांडेय ने बताया कि रेलवे की प्रॉपर्टी की सुरक्षा करने की जिम्मेदारी आरपीएफ पर है। ऐसे में जब सुरक्षा करने वाला ही चोर निकल जाए तो विश्वास किस पर किया जाए? ऐसे में रेलवे को नुकसान पहुंचाने वालों की जानकारी देनी चाहिए, ताकि विभाग को भी उसके असलियत की जानकारी हो। इसके अलावा सुप्रीम कोर्ट का आदेश भी है कि शिकायत दर्ज होते ही जानकारी अपलोड की जानी चाहिए लेकिन आरपीएफ में ऐसा नहीं किया जा रहा है। इसकी वजह से विभाग में ऐसी घटनाओं को अंजाम देने वालों की सच्चाई सभी के सामने नहीं आ पाती है।

अन्य समाचार