मुख्यपृष्ठसमाज-संस्कृतिउत्तर भारतीय विकास मंच के तत्वाधान में नालासोपारा में मनाया गया `उत्तर...

उत्तर भारतीय विकास मंच के तत्वाधान में नालासोपारा में मनाया गया `उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस’

राधेश्याम सिंह / वसई

उत्तर भारतीय विकास मंच के तत्वाधान में नालासोपारा-पूर्व बालाजी हॉल में इस वर्ष भी `उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस 2024′ बड़े ही धूमधाम से मनाया गया, जिसमें सैकड़ों की संख्या में उत्तर भारतीय समाज समेत अन्य समाज के लोग उपस्थित होकर कार्यक्रम को सफल बनाया है। डॉ. ओमप्रकाश दुबे के मार्गदर्शन व नागेंद्र तिवारी अध्यक्ष उत्तर भारतीय विकास के कुशल संयोजन में संपन्न हुए इस महोत्सव में अनेक गणमान्य लोग उपस्थित हुए।
गणमान्यों में पालघर लोकसभा सांसद राजेंद्र गावित, पूर्व विधायक पालघर विलास तरे, आनंद दूबे राष्ट्रीय प्रवक्ता शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्ष, मंगलेश्वर त्रिपाठी मुन्ना, रूपेश जाधव पूर्व महापौर वसई-विरार मनपा, वैभव पाटील पूर्व नगरसेवक वसई-विरार महानगरपालिका, भूपेंद्र पाटील पूर्व नगरसेवक आदि लोगों ने अपने विचार प्रस्तुत किए।नागेंद्र तिवारी और उत्तर भारतीय विकास मंच के पदाधिकारियों सुनील तिवारी, जय प्रकाश पांडेय, विजयभान सिंह, डॉ. दिनेश चतुर्वेदी, शिवनारायण उपाध्याय, अमित दुबे (समाजसेवी), चंद्रप्रकाश यादव, विनोद पांडेय बाबा, पंकज पांडेय, संजय गुप्ता, विनय सिंह, अखिलेश यादव, एड.बीरेंद्र तिवारी, आनंद पांडेय, बब्लू दुबे, श्रीकांत शुक्ल आदि लोगों द्वारा उपस्थित अतिथियों का स्वागत किया गया।
डॉ. ओमप्रकाश दुबे सर्वप्रथम नागेंद्र तिवारी के पिता स्व.गिरजाशंकर तिवारी की आत्मा की शांति हेतु उपस्थित जनों के साथ दो मिनट मौन रहकर श्रद्धांजलि अर्पित किए और अपने संबोधन में उत्तर भारतीयों की श्रमशीलता एवं मुंबई के विकास में उनके अभूतपूर्व योगदान को इंगित करते हुए महाराष्ट्र को अपनी कर्मभूमि एवं यहां के भूमि पुत्रों को अपना मौसेरा भाई बताते हुए यह आशा व्यक्त किए कि जिस तरह हम उत्तर भारतीय लोग आज महाराष्ट्र की पावन धरती पर ‘उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस’ मना रहे हैं, उसी तरह ओ दिन दूर नहीं जब हमारे महाराष्ट्रीयन भाई उत्तर प्रदेश में महाराष्ट्र दिन मनाएंगे। संस्था के अध्यक्ष नागेंद्र तिवारी ने अपने व्यक्तव्य में बताया कि हम उत्तर भारतीय आज मराठी उत्तर भारतीय हो चुके हैं, क्योंकि हमारे बच्चे इसी धरती पर पैदा हुए और पढ़-लिखकर आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने राजेंद्र गावित से मांग किया कि हमारे उत्तर भारत और परप्रांतीय जो भी ओबीसी और एससीएसटी भाई उत्तर प्रदेश में आरक्षण का लाभ नहीं पा रहे हैं, उन्हें उसी जातीय आधार पर महाराष्ट्र में भी आरक्षण का अधिकार मिलना चाहिए। सांसद गावित और विलास तरे पूर्व विधायक पालघर इसके लिए प्रयास करेंगे, ऐसा आश्वाशन दिए।
उत्तर भारतीय विकास मंच द्वारा सतीश सिंह भवन निर्माता और सुरेश प्रजापति अध्यक्ष दक्ष फाउंडेशन को उत्तर भारतीय रत्न देकर सम्मानित किया गया और पूर्व महापौर वसई-विरार महानगर पालिका रूपेश जाधव को विशेष सम्मान चिन्ह प्रदान किया गया।मंच का कुशल संचालन दिनेश त्रिपाठी द्वारा किया गया और शिवकुमार शुक्ल मीडिया प्रभारी उत्तर भारतीय विकास मंच के द्वारा उपस्थित पत्रकार बंधुओं का स्वागत किया गया।

अन्य समाचार