मुख्यपृष्ठअपराधपति को छोड़ मेरे पास आजा!... 'प्रेमिका' को पड़ोसी ने दिया था...

पति को छोड़ मेरे पास आजा!… ‘प्रेमिका’ को पड़ोसी ने दिया था आदेश

नहीं मानी तो बेवा बना दिया  
सनकी पहुंचा सलाखों के पीछे

जितेंद्र मल्लाह / मुंबई

खार सबवे में एक ४१ वर्षीय व्यक्ति की धारदार शस्त्र से वार करके हत्या का सनसनी खेज मामला सामने आया है। घटना शुक्रवार की रात १० बजे के करीब की है। इस हत्याकांड का मृतक की पत्नी से कनेक्शन सामने आया है। आरोपी और मृत युवक की पत्नी एक ही बस्ती में रहने के अलावा एक ही कॉलेज में पठते थे। दावा ये भी किया जा रहा है कि मृत युवक की पत्नी से उसके मायके में रहने वाला उक्त पड़ोसी कॉलेज के दिनो से ही एक तरफा प्यार करता था। उसी एक तरफा चाहत की सनक में मृत युवक की पत्नी पर आरोपी दबाव डाल रहा था कि वह तलाक लेकर उसके पास जाए। लेकिन जब वह नहीं मानी तो उसने (आरोपी) उसे बेवा बना दिया यानी उक्त कत्ल किए जाने की बात कही जा रही है।
बता दें कि ठाणे जिले में रहने वाला ४१ वर्षीय तबरेज शेख (बदला हुआ नाम) कॉस्मेटिक ज्वेलरी का बिजनेस करता था। उसका विवाह सांताक्रुज- पूर्व स्थित गोलीबार इलाके में रहने वाली शबनम (बदला हुआ नाम) से हुआ था। शबनम ने कुछ समय पहले तबरेज को बताया कि गोलीबार में रहने और कॉलेज में उसके साथ पढ़ने वाला अब्दुल सय्यद (बदला हुआ नाम) उसे फोन करके परेशान करता है। इसके बाद अब्दुल को ऐसा न करने के लिए  तबरेज समझाने आया था। लेकिन अब्दुल ने इस मौके का इस्तेमाल तबरेज को मौत के घाट उतारने के लिए किया।

पहले भी हुई थी लड़ाई

बताया जा रहा है कि शबनम को अब्दुल कॉलेज के दिनों से ही चाहता था, लेकिन उसकी चाहत एक तरफा थी। बाद में परिजनों ने शबनम का निकाह तबरेज से करवा दिया, लेकिन अब्दुल ने शबनम को पाने की आस नहीं छोड़ी। पहले वह फोन पर मैसेज भेज कर प्रेम जाल में उसे फांसने की कोशिश करता रहा, लेकिन जब शबनम ने घास नहीं डाली तो अब्दुल धमकी पर उतर आया। उसने शबनम से कहा कि वह तबरेज को छोड़ कर उसके पास आ जाए, अन्यथा वह तबरेज को मार देगा। अब्दुल की इस धमकी से शबनम डर गई और उसने तबरेज को सब बता दिया। इसके बाद तबरेज ने अब्दुल को शबनम को परेशान करने से बाज आने को कहा लेकिन वह नहीं माना। इससे गुस्साए तबरेज ने अब्दुल की पिटाई कर दी थी। फिर भी उसने शबनम को परेशान करना और धमकाना जारी रखा, लेकिन अब्दुल को दूसरी बार समझाने का प्रयास करना तबरेज के लिए जानलेवा सिद्ध हुआ। एकतरफा चाहत और तबरेज के हाथों हुई पिछली पिटाई के कारण अपमानित महसूस कर रहे अब्दुल पर पागलपन सवार हो गया था। उसी पागलपन में उसने तबरेज पर चाकू से हमला कर दिया और उसे बुरी तरह जख्मी करने के बाद मौके से फरार हो गया। प्रत्यक्षदर्शियों से मिली सूचना के बाद मौके पर पहुंची वाकोला पुलिस की टीम ने तबरेज को अस्पताल पहुंचाया लेकिन वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। शबनम की शिकायत पर मामला दर्ज करने के बाद वाकोला पुलिस ने अब्दुल को बांद्रा से गिरफ्तार कर लिया।

अन्य समाचार