मुख्यपृष्ठनए समाचारवरुण के बगावती तेवर: मौके पर चौका मारना चाहते हैं कई...

वरुण के बगावती तेवर: मौके पर चौका मारना चाहते हैं कई माननीय

  •  पीलीभीत लोकसभा के टिकट की जुगत में जुटे
  •  आधा दर्जन विधायक और पूर्व मंत्री

सामना संवाददाता / पीलीभीत
भाजपा में पीएम नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ बोलने की हिम्मत कोई नहीं करता है, लेकिन पीलीभीत से भाजपा के सांसद वरुण गांधी अक्सर अपनी ही पार्टी की गलत नीतियों की आलोचना के कारण सुर्खियों में रहते हैं। लगातार मोदी-शाह की आलोचना करने के कारण वरुण गांधी को पार्टी में महत्व मिलना कम हो गया है। आशंका जताई जा रही है कि वर्ष २०२४ में होनेवाले लोकसभा चुनाव में पार्टी उन्हें उम्मीदवार ही न बनाए। ऐसे में इस मौके को भुनाने यानी मौके पर चौका मारने की कोशिशों में कई लोग जुट गए हैं।
बता दें कि लोकसभा चुनाव २०२४ को लेकर सभी सियासी दल तैयारियों में जुटे हैं। परंतु भाजपा के पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र से वरुण गांधी की बजाय किसी नए प्रत्याशी को उतारने की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। इस मौके को देखते हुए पीलीभीत लोकसभा सीट से उत्तर प्रदेश सरकार के गन्ना राज्य मंत्री एवं पीलीभीत शहर से विधायक संजय गंगवार और पूर्व मंत्री एवं बहेड़ी विधानसभा के पूर्व विधायक छत्रपाल सिंह गंगवार समेत आधा दर्जन नेता पहले ही टिकट की दौड़ में थे। मगर अब भाजपा ब्रज प्रांत के उपाध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री सुधीर मौर्य ने भी पीलीभीत लोकसभा सीट पर दावेदारी ठोक दी है। उन्होंने पीलीभीत लोकसभा क्षेत्र की विधानसभाओं के दौरे शुरू कर दिए हैं। वे केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के रिश्तेदार भी हैं। वे विधानसभा चुनाव में भी टिकट मांग रहे थे लेकिन पार्टी ने आगे चुनाव में मौका देने की बात कह दी। इसी को लेकर उन्होंने पीलीभीत सीट से तैयारी शुरू कर दी है। ऐसे में वरुण गांधी के भविष्य को लेकर सवाल उठने लगे हैं।

अन्य समाचार