मुख्यपृष्ठनए समाचारबीवी और बच्चों के साथ आमरण-अनशन पर बैठा पीड़ित, उप जिलाधिकारी पर...

बीवी और बच्चों के साथ आमरण-अनशन पर बैठा पीड़ित, उप जिलाधिकारी पर प्रताड़ना का आरोप…

मंगलेश्वर त्रिपाठी / जौनपुर

पीड़ित की आबादी जमीन पर उप जिलाधिकारी शाहगंज द्वारा विपक्षियों को कब्जा करवाए जाने का मामला सामने आया है। दरअसल, ग्राम भैसोली, थाना सरपतहां निवासी आशुतोष पुत्र रमाशंकर ने उप जिलाधिकारी पर आबादी की जमीन को कब्जा कराने का आरोप लगाते हुए कहा कि जमीन को लेकर उन्हें लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है। आबादी के बीच से नया खड़ंजा का निर्माण किया जा रहा है, जबकि उपरोक्त के संबंध में दीवानी न्यायालय में मुकदमा विचाराधीन है। पूर्व में विपक्षी द्वारा एकपक्षीय आदेश करवाया गया था, जिसमें कब्जा दखल में हस्तक्षेप करने से मना किया गया है। रास्ते में आने—जाने में अवरोध न करें एवं न हैण्डपम्प लगवाएं, जबकि प्रार्थी का हैण्डपम्प लगभग 5 वर्ष पुराना लगा हुआ है।
आरोप है कि उप जिलाधिकारी व्यक्तिगत रूप से प्रार्थी को परेशान कर रहे हैं। गिरफ्तार कर जेल भेजने के बाद प्रार्थी की आबादी को कब्जा करवाने की धमकी दे रहे हैं। पीड़ित ने पूर्व में थाना प्रभारी व उप जिलाधिकारी शाहगंज की प्रताड़ना व जबरन निर्माण कार्य करवाने से क्षुब्ध होकर आत्मदाह करने का प्रयास किया था। इस संबंध में पीड़ित को धारा 151 में चालान किया गया था। जमानत के बाद अब पुनः उप जिलाधिकारी विपक्षी व हल्का लेखपाल की साजिश में होकर पीड़ित के खिलाफ वारंट जारी कर जेल भेजने के बाद उसकी आबादी में खड़ंजा ले जाना चाहते हैं, जबकि पीड़ित रास्ता किनारे से ले जाने को कह रहा है। आरोप है कि उप जिलाधिकारी सारे नियम—कानून को ताख पर रखकर जबरन पीड़ित की जमीन पर कब्जा करवाना चाहते हैं, जिससे प्रार्थी परेशान है। पीड़ित का कथन है कि अब जीने का कोई आसरा नहीं दिख रहा है, जिससे उप जिलाधिकारी शाहगंज की प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर वह शुक्रवार से अपने पूरे परिवार के साथ उप जिलाधिकारी कार्यालय के समक्ष आमरण-अनशन पर बैठ गया है।

अन्य समाचार

लालमलाल!