मुख्यपृष्ठसमाचार‘कुंवारों का गांव'! २०१७ के बाद नहीं हुई किसी लड़के की शादी

‘कुंवारों का गांव’! २०१७ के बाद नहीं हुई किसी लड़के की शादी

शादी इंसान के जिंदगी का एक हसीन पल होता है, लेकिन बिहार में एक ऐसा गांव है, जहां कुंवारे लड़के शादी तो करना चाहते हैं लेकिन उनकी शादी नहीं हो रही है। इसलिए इस गांव को ‘कुंवारों का गांव’ कहा जाता है। ‘कुंवारों का गांव’ सुनकर थोड़ा अजीब सा लग रहा होगा लेकिन ये बिल्कुल सच है। बिहार की राजधानी पटना से ३०० किलो मीटर दूर स्थित ‘बरवां कला’ गांव में कोई भी लड़की वाला अपनी बेटी की शादी नहीं करा चाहता है। स्थानीय लोगों को कहना है कि काफी पिछड़ा होने की वजह से इस गांव के कोई भी माता-पिता अपनी बच्ची की शादी नहीं करते हैं। इस गांव में सड़क, स्वास्थ्य और शिक्षा की कमी है। यही वजह है कि यहां के नौजवान लड़के कुंवारे हैं और उनकी चाह कर भी शादी नहीं हो रही है। स्थानीय लोगों का कहना है कि साल २०१७ में एक लड़के की शादी हुई। जिसके लिए पूरे गांव के लोगों ने जंगल को काटकर ६ किलोमीटर की सड़क बनाई । सालों के बाद अजय कुमार की शादी हुई तो गांव वालों ने उसका स्वागत सेलिब्रिटि की तरह किया।

अन्य समाचार