मुख्यपृष्ठनए समाचारयूपी में मनबढ़ हुए अपराधी! ...24 घंटे में दो बार हुई गोलीबारी......

यूपी में मनबढ़ हुए अपराधी! …24 घंटे में दो बार हुई गोलीबारी… गोली लगने से दारोगा व सिपाही घायल!

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ

उत्तर प्रदेश में पुलिस की हनक घट रही है या अपराधियों की धमक यह कहना मुश्किल है, लेकिन इसकी कीमत पुलिसकर्मियों को अपना खून बहा कर चुकानी पड़ रही है। बुधवार को कासगंज और गुरुवार को पीलीभीत में पुलिस पर हुई फायरिंग से अलग-अलग घटनाओं में एक दारोगा और एक सिपाही घायल हुए हैं। एक माह पूर्व दर्ज किए गए विवाहिता को बहला-फुसलाकर ले जाने के मामले में आरोपी के घर दबिश देने गई कोतवाली पुलिस पर हमला कर दिया गया, जिसमें गोली लगने से एक कांस्टेबल घायल हो गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, पीलीभीत जिले की सदर कोतवाली में पूरनपुर के एक व्यक्ति ने सात दिसंबर को धारा 366 के तहत रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसमें मोहल्ला गनेशगंज पूर्वी निवासी अभिषेक सक्सेना को आरोपी बनाया था। पुलिस को क्लू मिला कि विवाहिता को लेकर आरोपी पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम रंपुरा कोन में है। इस पर सदर कोतवाली से दारोगा सुभाष चंद्र, सिपाही शाहरुख, महिला सिपाही राधा पूरनपुर गए। कोतवाली पूरनपुर से सिपाही वादी अंकित को साथ लिया और फिर रंपुरा कोन गांव में एक मकान में दबिश दी। पुलिस के दरवाजा खटखटाने पर कौन की आवाज भीतर से आई, जब पुलिस बताया गया तो ये कह दिया कि कुत्ता बांधकर गेट खोलते हैं। कुछ मिनट बाद ही दरवाजा खुला तो पुलिस वहां मौजूद आरोपी को पकड़ने के लिए आगे बढ़ी। इस पर एक-एक कर तमंचे से दो गोली चला दी गई, जिसमें गोली सिपाही शाहरुख को लग गई। सामने से गोली चलता देख पुलिस सकते में आ गई और आरोपी भाग गया। आनन-फानन में सिपाही को पूरनपुर सीएचसी ले जाया गया। वहां से रेफर किए जाने पर शहर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यहां सीओ सिटी अंशु जैन पुलिस बल के साथ पहुंच गई। सिपाही के परिवारवाले भी आ गए। उसका इलाज कराया जा रहा है।
दूसरी घटना बुधवार की है।
कासगंज में खेत पर दो पक्षों में विवाद के दौरान दबंगों ने बुधवार रात ताबड़तोड़ फायरिंग कर इंस्पेक्टर को गोली मारकर दबंग फरार हो गए। आरोपित पक्ष के दो बेटे जिलाबदर हैं। इंस्पेक्टर को दिल के ऊपर कंधे में गोली लगी है, उन्हें अलीगढ़ रेफर किया गया है। शिवपाल और ऋषिपाल पक्ष में 10 बीघा जमीन को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था।ऋषिपाल पक्ष दबंग है। राजस्व विभाग की जांच के बाद पुलिस ने शिवपाल पक्ष को पिछले दिनों कब्जा दिलाया था। बुधवार को शिवपाल फसल को पानी दे रहे थे। आरोप है कि ऋषिपाल पक्ष पहुंचा और पाइप लाइन काट दी। इसको लेकर दोनों पक्ष आमने-सामने आ गए। सूचना पर थाना सिकंदरपुर वैश्य इंस्पेक्टर हरिभान सिंह राठौर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। हमलावरों को पकड़ने के लिए इंस्पेक्टर राठौर आगे बढ़े, तभी एक गोली उनके दिल के ऊपर कंधे पर लगी और वे गिर पड़े। इसके बाद हमलावर भाग निकले। एसपी ने बताया कि आरोपितों की तलाश में दबिशें दी जा रही हैं। घायल इंस्पेक्टर फिरोजाबाद के रहने वाले हैं।

अन्य समाचार