मुख्यपृष्ठनए समाचारदुबई से चला रहा था ठगी का कारोबार ...महादेव ऐप का मास्टरमाइंड...

दुबई से चला रहा था ठगी का कारोबार …महादेव ऐप का मास्टरमाइंड मुंबई में गिरफ्तार!

सामना संवाददाता / मुंबई
दुबई में बैठकर महादेव ऐप का संचालन करनेवाले मास्टरमाइंड को मुंबई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी के खिलाफ सरकारी योजना का लालच देकर फर्जी अकाउंट खुलवाकर करोड़ों रुपए की ठगी किए जाने का मामला दर्ज है। पुलिस ने पांच महीने पहले इस मामले में लुक आउट नोटिस जारी किया था। आरोपी के दुबई से मुंबई आते ही मुंबई पुलिस ने उसे एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तार कर लिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार, राजस्थान स्थित प्रतापगढ़ के कुछ लोगों ने मई महीने में शिकायत दर्ज कराई थी कि सरकारी योजना के तहत रुपयों का लालच देकर उनके नाम से बैंक में खाते खुलवाए गए। इन खातों में सरकारी योजना के तहत रुपए डलवाने की बात कही गई थी। उनके नाम से सिम कार्ड भी जारी करवाए गए। जिसके बाद बैंक की ओर से जानकारी मिली कि उनके खातों में ज्यादा ट्रांजेक्शन हो रहा है, जिसकी जानकारी पीड़ितों को नहीं थी। इस पर पुलिस ने विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की। उधर, साइबर पुलिस ने तत्काल इन खातों को सीज कर दिया। ऐसे ९० से ज्यादा खातों का अब तक पता लगा है, जिनमें इन खातों से राशि ट्रांसफर हुई है। जांच में पाया गया कि ये रकम आईपीएल सट्टे और अन्य संदिग्ध कार्यों से जमा हुई है। इन सभी खातों में जमा ३ करोड़ ८८ लाख २९ हजार १७८ रुपए प्रâीज कर दिए गए हैं। इसी मामले में पुलिस ने फर्जी खाते खुलवाने वाले ४ आरोपियों को भी गिरफ्तार कर उनके पास से २० से ज्यादा डेबिट-क्रेडिट कार्ड जब्त किए थे। इस मामले में मुख्य सरगना मृगांक मिश्रा पहले मुंबई के कांदिवली स्थित लोखंडवाला में रहता था। मामला दर्ज होने के बाद से पुलिस उसकी तलाश कर रही थी। पुलिस को पता चला कि वह दुबई में रहकर वहीं से अवैध गतिविधियां चला रहा है। आखिरकार, उसके मुंबई आने की सूचना मिलते ही पुलिस ने जाल बिछाकर उसे मुंबई एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर लिया।

अन्य समाचार