मुख्यपृष्ठनए समाचारहमने पहचाना नहीं था, मित्र नहीं ये शत्रु हैं!

हमने पहचाना नहीं था, मित्र नहीं ये शत्रु हैं!

-गधे द्वारा लात मारने से पहले हमने गधे को लात मारकर भगा दिया
-हमने गधे को ढाई साल पहले छोड़ दिया
-गधाधारी वाले बयान पर सीएम उद्धव ठाकरे ने ली भाजपा की खबर
सामना संवाददाता / मुंबई। हमने पहचाना नहीं था कि ये मित्र नहीं शत्रु हैं। घंटाधारी गधे को हमने ढाई साल पहले छोड़ दिया। गधा तो गधा होता है। घोड़े के वेश में ये गधा हमें लात मारनेवाला था, उससे पहले हमने उसे लात मारकर भगा दिया। कल बीकेसी की महारैली में मुख्यमंत्री व शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने इन शब्दों में १ मई को विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस द्वारा दिए गए ‘गदाधारी बनाम गधाधारी’ वाले बयान की खबर ली। इसके अलावा उन्होंने, महंगाई, बेरोजगारी, कश्मीरी पंडितों, हिंदुत्व के मुद्दे और महाराष्ट्र को बदनाम करने की रची जा रही साजिश को लेकर भाजपा की धज्जियां उड़ाईं।
बांद्रा-पूर्व के बीकेसी स्थित एमएमआरडीए मैदान में जुटे शिवसैनिकों के ऐतिहासिक महासागर को संबोधित करते हुए शिवसेनापक्षप्रमुख ने सबसे पहले छत्रपति संभाजी राजे महाराज का अभिवादन किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बहुत दिनों बाद मैदान में उतरा हूं। खुली सांस लेनी है। उन्होंने कहा कि जिन्हें महाराष्ट्र में रहकर भी समझ नहीं आया है, उन्हें महाराष्ट्र समझाना पड़ता है। झूठा हिंदुत्व का बुर्का पहनकर जो पार्टी हमारे साथ थी, उसका साथ हमने छोड़ दिया। वे देश को भ्रमित कर रहे हैं। हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे द्वारा दिखाए गए हिंदुत्व को लेकर हम आगे बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा था कि ‘मुझे मंदिर में घंटा बजाने वाला हिंदू नहीं, बल्कि आतंकवादियों से लड़नेवाला हिंदू चाहिए।’ इसी विचारधारा पर हम आगे बढ़ रहे हैं। मैंने कहा था हमारा हिंदुत्व गदाधारी है, दूसरों का हिंदुत्व घंटाधारी है। आज मुझे गदा दी गई है। गदा उठाने के लिए भुजाओं में ताकत होनी चाहिए। २५ साल तक हम युति में सड़ गए। आखिर में गधा तो गधा ही होता है। घोड़े के भेष में जो हमारे साथ गधे थे, वह लात मारे उससे पहले हमने उन्हें लात मारकर भगा दिया।
बुलेट ट्रेन मुंबई को तोड़ने की साजिश
शिवसेनापक्षप्रमुख ने कहा कि पूरे देश में रंग पैâलाया जा रहा है कि भाजपा ही हिंदुत्व है तो यहां सामने बैठा जनसागर कौन है? उन्होंने नेता प्रतिपक्ष देवेंद्र फडणवीस पर निशाना साधते हुए कहा कि स्लिप ऑफ टंग कहकर मुद्दे छोड़े नहीं जा सकते? मुंबई को स्वतंत्र करेंगे। आपकी सात पीढ़ियां भी आ जाएं तो भी मुंबई को महाराष्ट्र से अलग नहीं किया जा सकता। १०७ हुतात्माओं के बलिदान पर हमने मुंबई हासिल की है। मुंबई-अमदाबाद बुलेट ट्रेन बीकेसी तक चलाने के दावे किए जा रहे हैं। यह मुंबई को तोड़ने की साजिश है।
नूरा-कुश्ती बंद करो, आओ मिलकर करें महाराष्ट्र की उन्नति के लिए कार्य
शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि लोगों को भड़काकर हमें किसी का घर नहीं जलाना है। घर में चूल्हे वैâसे जलेंगे? एक साजिश के तहत महाराष्ट्र को जलाने का प्रयास किया जा रहा है। यह हमारा हिंदुत्व है। हनुमान चालीसा का पाठ करो लेकिन उस तरह आचरण भी होना चाहिए। वही हिंदुत्व है। हनुमान का अपमान न करो। सभी पार्टियों से मेरा आह्वान है कि साथ आओ मिलकर महाराष्ट्र की उन्नति के लिए कार्य करें। हृदय में राम हाथों को काम यह हमारा हिंदुत्व है।
‘उत्तर सभा’ को लेकर उद्धव ठाकरे की भाजपा को फटकार
मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने संभावित ‘उत्तर सभा’ को लेकर भाजपा को फटकार लगाते हुए कहा कि बिंदास सभा लो लेकिन हमें क्या उत्तर देते हो। जनता महंगाई की मार से मर रही है, जवाब देना जनता को दो। उन्होंने कहा कि आरोप-प्रत्यारोप से कुछ हासिल नहीं होगा। कल भाजपा की ‘उत्तर सभा’ होने वाली है, आज हमने ली है। उसके बाद फिर तुम सभा लेना और फिर हमारी सभा होगी। यही सब चलता रहेगा क्या? लेकिन इससे कोई हल नहीं निकलेगा। यही सब करते रहेंगे क्या हम लोग? चलो मैं आपके साथ बैठने को तैयार हूं। आइए साथ में बैठकर महाराष्ट्र और मुंबई के विकास के लिए काम करते हैं।
बंद हो गलिच्छ राजनीति
शिवसेनापक्षप्रमुख ने कहा कि रोजाना राज्य सरकार गिराने की बात हो रही है। सीबीआई, ईडी केंद्रीय एजेंसियों को हमारे लोगों के पीछे लगाकर परेशान किया जा रहा है। शिखंडी जैसे पीछे से वार करना बंद करो। लड़ना है तो आमने-सामने आओ। गलिच्छ राजनीति बंद होनी चाहिए। अन्यथा हम भी दया-माया-क्षमा नहीं दिखाएंगे। देश में महंगाई-बेरोजगारी चरम पर है, देश को अलग ही दिशा में ले जाया जा रहा है। आज श्रीलंका फिर जल रहा है। हनुमान ने अपनी पूंछ से लंका जलाई थी। आप पूंछ छिपाकर बैठे हैं।
भगवा साल ओढ़कर कोई बालासाहेब नहीं बन सकता
बीकेसी में कल हुई शिवसेना की महासभा में मुख्यमंत्री व शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने नकली बालासाहेब ठाकरे बनकर घूमने वाले पर व्यंग्य कसते हुए कहा कि एक दिन एक पदाधिकारी ने मुझे ‘लगे रहो मुन्ना भाई’ फिल्म की कहानी सुनाई। उसने कहा कि उस फिल्म में संजय दत्त को हर तरफ गांधी जी दिखते हैं, लेकिन बाद में संजय दत्त को समझ में आता है कि उसके दिमाग में केमिकल लोचा हो गया है। उन्होंने कहा कि ऐसा ही एक चरित्र इन दिनों यहां घूम रहा है, जो खुद को बालासाहेब ठाकरे समझ रहा है, भगवा साल ओढ़कर उनके जैसा दिखने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने आगे कहा कि आदित्य ठाकरे तिरुपति गए थे, अयोध्या गए थे अब फिर वे अयोध्या जाएंगे। रामजन्मभूमि के दर्शन के समय मैं शिवनेरी की पवित्र मिट्टी लेकर गया था। रामलला के दर्शन किए, उसके बाद जो भी हुआ हो, चमत्कार कहिए या संयोग, आपके आशीर्वाद से मैं मुख्यमंत्री बना, हम राज्य की जनता के लिए खूब काम करने के प्रयास कर रहे हैं।
केंद्र ने कई विकास कार्यों में अड़ंगा डाल रखा है
उन्होंने कहा कि राज्य के ८ प्राचीन मंदिरों का जीर्णोद्धार करने का निर्णय हमने किया है। लेकिन यहां एक मंदिर जीर्णोद्धार के कार्य में केंद्र के पुरातत्व विभाग ने अड़ंगा डाल रखा है। वैसे कई परियोजनाएं हैं, जिनमें केंद्र ने अड़चन पैदा की है। धारावी में रेल विभाग की जगह का अभी तक भुगतान के बाद भी हमें सुपुर्द नहीं की गई है। महाराष्ट्र के मराठी भाषा को अभिजात भाषा का दर्जा देने की मांग भी अभी तक पूरी नहीं की गई है। देंवेंद्र फडणवीस को यदि लड़ना ही है तो जाएं, केंद्र से लड़कर तमाम विकास कार्यों को पूरा करने में सहयोग करें।
दो करोड़ लोग हुए बेरोजगार
उन्होंने कहा कि विपक्ष इतने झूठे आरोप और बदनाम करने के प्रयास इसलिए कर रहा है क्योंकि महाराष्ट्र नहीं जल रहा है। आज श्रीलंका में क्या हुआ, वह क्यों जल रहा है? वहां के लोगों के हाथों में काम नहीं होगा, भूख मिटाने को अन्न नहीं, तो लोगों ने यह कदम उठाया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में सहयोग करने वाले लोगों का धन्यवाद देते हैं। लेकिन एक रिपोर्ट के मुताबिक केंद्र की गलत नीतियों की वजह से २०१७-२०२२ में २ करोड़ लोगों की नौकरी चली गई है। सभी दलों से अपील की कि राजनीतिक पाप न करें।
एक-तरफा प्रेम की तरह वे महाराष्ट्र को कुरूप करना चाहते हैं
उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र को बदनाम करने में विपक्ष को आनंद आ रहा है, जिन भी आरोपों पर केंद्रीय जांच एजेंसियों को लगाया गया है, उसकी जांच का आगे क्या हुआ? सुशांत सिंह मामले का क्या हुआ? ऐसा सवाल किया। उन्होंने कहा कि हमने कभी आपके परिवार को बदनाम नहीं किया। लेकिन भाजपा के लोग एकतरफा प्रेम की तरह महाराष्ट्र को बदसूरत दिखाने की कोशिश कर रहे हैं। चलो मैं आपके साथ बैठकर बात करने को तैयार हूं। आइए, तमाम विकास योजनाओं के साथ हम महाराष्ट्र को आगे ले जाते हैं। आप महाराष्ट्र के हिंदुत्व की चिंता मत करो, उसके लिए शिवसेना है।
मुंबई मनपा के कार्य पर गर्व
हम मुंबई में जो कर रहे हैं। उस पर हमें तो गर्व है ही उन्हें भी गर्व होना चाहिए। हम आठ भाषाओं में पढ़ाते हैं। सीबीएसई, आईसीएससी और आईबी बोर्ड के स्कूल चला रहे हैं। मनपा के स्कूल में दाखिले के लिए अब अभिभावकों की कतार लगने लगी है। केजरीवाल ने कहा था कि हमने दिल्ली में किया है, मैं केजरीवाल से कहना चाहता हूं कि यह मुंबई एक मनपा है न कि कोई राज्य है। देश की पहली मनपा है, जहां यह सुविधाएं शुरू है। मुंबई सहित महाराष्ट्र में मजबूत के साथ स्वास्थ्य व्यवस्था उपलब्ध करा रहे हैं।
देवेंद्र का पैर भी पड़ता तो वजन से बाबरी ढह गई होती
इस मौके पर मुख्यमंत्री ने विपक्ष के नेता देवेंद्र फडणवीस की जमकर खिंचाई की। उन्होंने कहा कि जब बाबरी ढहाई गई थी, उस समय फडणवीस को जन्मे कितना समय हुआ था। चड्ढी पहनकर घूमते रहे होंगे। फडणवीस के मोटापे पर तंज कसते हुए कहा कि फडणवीस का कदम वहां पड़ गया होता तो बाबरी अपने आप ढह गई होती, उनका वजन ही इतना ज्यादा है। इस दौरान उन्होंने फडणवीस के बड़बोलेपन पर भी लताड़ लगाई, कहा कि क्या उम्र है और क्या बोलते हैं, कुछ समझ होनी चाहिए। उन्होंने बाबरी की घटना को याद करते हुए कहा कि उस घटना के दौरान आडवाणी जी ने प्रमोद महाजन को भेजा और कहा कि कारसेवकों को रोको, लेकिन प्रमोद जी ने बताया कि लोग उनकी भी नहीं सुन रहे हैं, वे लोग कौन थे, शिवसैनिक थे।
…तो दाऊद को भी मंत्री बना देंगे
उन्होंने कहा कि इस समय केंद्र की एजेंसियां दाऊद के पीछे लगी हैं। कल दाऊद भी यदि भाजपा में आने को तैयार हो जाएगा तो उसे भी पवित्र बनाकर मंत्री बना दिया जाएगा। ऐसी विचारधारा पर काम करने वाले आप अपने आपको हनुमान पुत्र वैâसे कहते हैं? हनुमान को बदनाम मत करो, हमारा हिंदुत्व ऐसा नहीं है।
१० करोड़ से अधिक शिवभोजन थालियों का अब तक वितरण
शिवसेना की महत्वाकांक्षी योजना शिवभोजन थाली करोड़ों गरीबों की भूख मिटाने का कार्य कर रही है। जब से शिवभोजन थाली का वितरण शुरू हुआ है, तब से अब तक १० करोड़ से अधिक थालियों का वितरण किए जाने की जानकारी कल महाराष्ट्र राज्य के चहेते मुख्यमंत्री व शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने बीकेसी मैदान में सभा के दौरान दी है। वहीं मुख्यमंत्री ने लॉकडाउन के दौरान थाली पीटकर कोरोना भगानेवालों को भी आड़े हाथों लिया। उन्होंने भाषण में विरोधी पक्ष को जवाब देते हुए कहा कि तुम थाली पीटकर कोरोना को भगा रहे थे लेकिन कोरोना नहीं भागा, बल्कि महंगाई आ धमकी है। महंगाई की मार से गरीबों की थाली अब खाली हो चुकी है। इन खाली थालियों से गरीबों की भूख नहीं मिटेगी। उन्होंने विरोधियों को आरोप-प्रत्यारोप करने की आदत छोड़ने की हिदायत दी और कहा कि हिम्मत है तो साथ आओ और महाराष्ट्र राज्य के विकास की बात करो।
‘आवाज कोणाचा, शिवसेनेचा’ से गूंज उठा बीकेसी
महाविकास आघाड़ी सरकार को गिराने के लिए विरोधी पक्ष नेताओं द्वारा साम-दाम-दंड-भेद का इस्तेमाल किया जा रहा है। महाविकास आघाड़ी सरकार के नेताओं के खिलाफ केंद्र की जांच एजेंसियों का इस्तेमाल कर उन्हें बदनाम करने की गंदी राजनीति विरोधी पक्ष नेता करते नजर आ रहे हैं। इसी का जवाब देने के लिए शिवसेना द्वारा कल बीकेसी स्थित मैदान पर उत्तर सभा का आयोजन किया गया था। सभा में हिंदूहृदयसम्राट शिवसेनाप्रमुख बालासाहेब ठाकरे के हजारों शिवसैनिकों की भयंकर भीड़ ने यह साफ कर दिया कि शिवसेना किसी से कम नहीं और न ही किसी के आगे झुकनेवाली है। शिवसैनिकों के भगवे झंडे और उनकी तेज-तर्रार आवाज में ‘आवाज कोणाचा, शिवसेनेचा’ की उद्घोषणाओं से पूरा बीकेसी मैदान गूंज उठा।
न करो महाराष्ट्र का विद्रूप
शिवसेनापक्षप्रमुख ने भाजपा को चेताया कि आप गलत तरीके से हमारे पीछे पड़ेंगे तो महाराष्ट्र उठ खड़ा हुआ तो भागने का रास्ता नहीं मिलेगा। ‌सत्ता नहीं मिल रही इसलिए आपका एकतरफा प्रेम चल रहा है। एकतरफा प्रेम में जैसे प्रेमी प्रेमिका को विद्रूप कर देता है, उसी तरह महाराष्ट्र को विद्रूप करने का प्रयास कर रहे हैं। हम संयम बरत रहे हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि हम नामर्द हैं। हम किसी के आड़े नहीं जाते लेकिन जो आता है उसे छोड़ते भी नहीं। हिंदुत्व दिमाग में होता है। भगवा टोपी पहन लेने से हिंदुत्व नहीं हो जाता। यदि ऐसा है तो आरएसएस की टोपी काली क्यों? हमें आपका विकृत हिंदुत्व स्वीकार नहीं है। हमारा देश दुर्दशा की ओर बढ़ रहा है। लोगों से ताली-थाली बजवाकर गो कोरोना, गो कोरोना भगानेवाले अब गो महंगाई, गो महंगाई भगाएं।
हमने खुलेआम किया है गठबंधन
शिवसेनापक्षप्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा कि हम कांग्रेस के साथ गए तो हमारे हिंदुत्व पर सवाल उठाया जा रहा है।‌ मैं विधानसभा में भी खुलकर बोल चुका हूं कि शिवसेना ने हिंदुत्व नहीं छोड़ा है। भाजपा के एनडीए गठबंधन में कितनी पार्टियां थीं। कुछ के पास तो सांसद भी नहीं थे। नीतीश कुमार तो संघ मुक्त भारत चाहते थे। आप उन्हें गोद में लेकर चलते हैं। पिछले हफ्ते उन्होंने लाउडस्पीकर को बकवास बताया है। क्या आप में नीतीश कुमार के सामने बोलने की हिम्मत है? जम्मू-कश्मीर में कश्मीरी पंडितों पर हमले हो रहे हैं। महबूबा मुफ्ती से गठबंधन करके जम्मू-कश्मीर में किसने सरकार बनाई थी। हमने खुलेआम कांग्रेस-राकांपा से गठबंधन करके सरकार बनाई है। हम छुपकर भोर में शपथ विधि कार्यक्रम नहीं कराते।

अन्य समाचार