मुख्यपृष्ठनए समाचार मीरा रोड में मातम! ...फिरौती में मांगी 35 लाख रुपए

 मीरा रोड में मातम! …फिरौती में मांगी 35 लाख रुपए

• २४ घंटे के अंदर पुलिस ने दो आरोपियों को किया गिरफ्तार
सामना संवाददाता / मीरा रोड
मीरा रोड से अपहृत १३ साल के एक बच्चे की निर्मम हत्या कर दिए जाने की दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। इस वारदात से पूरे शहर में सनसनी फैल गई और लोगों में मातम व आक्रोश व्याप्त है। इस प्रकरण में पुलिस ने २ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मृत बच्चे का नाम मयंक ठाकुर (१३ वर्ष ) है। वह मीरा रोड के शांतिपार्क परिसर में स्थित क्लस्टर सोसायटी में अपनी मां के साथ रहता था। एमबीवीवी पुलिस आयुक्तालय परिमंडल १ के पुलिस उपायुक्त अमित काले ने बुधवार को प्रेसवार्ता में जानकारी दी कि ३१ जुलाई की शाम ७ बजे बच्चे को मोबाइल फोन देने और बाइक पर घुमाने के बहाने अपहरण कर लिया गया था। रात को ११ बजे तक जब मयंक घर नहीं लौटा तो अज्ञात अपहरणकर्ताओं के खिलाफ काशीमीरा पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया था।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस बच्चे की सरगर्मी से तलाश कर ही रही थी कि इस बीच सोमवार की रात बच्चे की मां को अपहर्ताओं ने फोन कर ३५ लाख रुपए फिरौती की मांग की और ७ दिन में बच्चे के वापस आ जाने की बात कही थी। पुलिस ने मुखबिरों और टेक्निकल जानकारी जमा कर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर मंगलवार को पुलिस ने वसई के वालिव पुलिस थाने की सीमा में वासाडया पुल के नीचे से मयंक का शव बरामद किया है। गिरफ्तार दोनों ही आरोपी मीरा रोड-पूर्व के निवासी हैं।

अन्य समाचार