मुख्यपृष्ठनए समाचारअच्छा हुआ दादा, आप उधर चले गए अब गोद से गर्दन पर...

अच्छा हुआ दादा, आप उधर चले गए अब गोद से गर्दन पर चढ़ जाओ!-भास्कर जाधव का तंज

सामना संवाददाता / मुंबई
विधानसभा में विरोधी दल नेता पद पर विजय वडेट्टीवार के नाम की घोषणा की गई। प्रतिपक्ष नेता पद पर नियुक्ति होने के बाद उनके अभिनंदन प्रस्ताव पर विरोधी दल के विधायकों ने जमकर प्रशंसा की। इस अवसर पर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी के विधायक भास्कर जाधव ने कहा कि जिन्हें सब कुछ मिला, वह उठे और उधर चले गए। विजय वडेट्टीवार को कोई विभाग नहीं मिला, परंतु वे पार्टी छोड़कर नहीं गए। अच्छा हुआ दादा, आप उधर चले गए, अब उनकी गोद से उठकर गर्दन पर जाकर बैठ जाओ! ऐसा तंज भास्कर जाधव ने कसा।
इस दौरान जयंत पाटील ने कहा कि विरोधी दल के कुर्सी पर जो बैठता है। वह सत्ताधारी दल की गोद में जाकर बैठ जाता है, इसलिए उस कुर्सी की पूजा की जानी चाहिए। उन्होंने आगे तंज कसते हुए कहा कि असल में मुझे उस कुर्सी पर बैठना था, परंतु तब भुजबल साहब ने कहा कि जयंत तुम पार्टी देखो, अजीत दादा विरोधी दल नेता होंगे। तब भुजबल साहब ने चयन किया था। परंतु नसीब का खेल देखो, जो उस कुर्सी पर बैठता है, वह सत्ताधारी के गोद में जाकर बैठ जाता है। इस बात पर पूरा सदन ठहाकों से गूंज उठा।
शिवसेना के तीनों सर्वोच्च पद पर
इस सदन में तीन लोग सर्वोच्च पद पर हैं। विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर हैं। मुख्यमंत्री के रूप में एकनाथ शिंदे सर्वोच्च स्थान पर बैठे हैं और विरोधी पक्ष नेता के रूप में विजय वडेट्टीवार हैं। नियति का क्या न्याय है, मालूम नहीं, परंतु उक्त तीनों लोग मूल रूप से शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पार्टी के हैं। विधिमंडल के तीनों ही सर्वोच्च पद पर शिवसेना के रूप में है। यह बड़ा चमत्कार है, इस ओर भास्कर जाधव ने सदन का ध्यान आकर्षित किया।

अन्य समाचार