मुख्यपृष्ठविश्वअब तेरा क्या होगा यूक्रेन! ...बीच मझधार में छोड़ गए अमेरिका, ब्रिटेन

अब तेरा क्या होगा यूक्रेन! …बीच मझधार में छोड़ गए अमेरिका, ब्रिटेन

अब रूस के हवाई हमलों से आई यूक्रेन की शामत
सामना संवाददाता / नई दिल्ली 
रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग को करीब ६०० दिन हो गए, इसके बावजूद दोनों देश पीछे हटने को तैयार नहीं हैं। सूत्रों के अनुसार, अमेरिकी और यूरोपियन देशों से मिल रही मदद की वजह से अभी तक छोटा सा देश यूक्रेन युद्ध के मैदान में टिका हुआ था। लेकिन अब यूक्रेन सरकार को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। यूक्रेन के टॉप अधिकारियों का कहना है कि अब संकट बढ़ रहा है क्योंकि रूस ने हमले तेज कर दिए हैं, जबकि पश्चिमी देशों से मिल रही मदद अब हम तक नहीं आ रही है। दरअसल, अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई देश अब यूक्रेन की मदद से हाथ खींचते दिख रहे हैं। अमेरिका की तो सरकार ने ही स्पष्ट तौर पर कह दिया है कि यूक्रेन की और ज्यादा मदद करना हमारे लिए मुश्किल होगा।
रूस ने तेज किया हमला 
बीते करीब दो सालों से चल रहे युद्ध को रूस ने अब और तेज करते हुए यूक्रेन पर ताबड़तोड़ हमले शुरू कर दिए हैं। नए साल से पहले शुक्रवार को शुरू किए मिसाइलों और ड्रोन हमलों में यूक्रेन के १२ लोगों की मौत हो चुकी है और दर्जनों लोग गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं। रूसी हमले पूरे यूक्रेन में जारी हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार, यूक्रेन की राजधानी कीव में ये हमले हो रहे हैं, साथ ही कई धमाके अन्य शहरों में भी सुने गए।
हमले में हुई नागरिकों की मौत 
यूक्रेन ऑथॉरिटीज का कहना है कि एक धमाका तो निप्रो शहर के एक मैटरनिटी अस्पताल के पास भी हुआ है। इसके अलावा धारकीव, ओडेसा, लवीव शहरों में भी हमले जारी हैं। यूक्रेन के पीएम डेनिस स्मिहाल ने कहा कि खारकीव में कम से कम २० हमले हुए हैं। इनमें से एक अटैक अस्पताल पर भी हुआ, जिसमें एक शख्स मारा गया और ११ लोग घायल हुए हैं। यूक्रेन वायुसेना के अधिकारी इन्हात ने कहा कि दुश्मन ने बहुत जबरदस्त हमले किए हैं और दुर्भाग्य की बात है कि इसमें लोग मारे भी गए हैं। रूस ने कीव एक मेट्रो स्टेशन को भी टारगेट करके हमला किया, जिसमें एक शख्स की मौत हो गई और २१ घायल हुए हैं।
यूक्रेन ने मांगी मदद 
यूक्रेनी राष्ट्रपति कार्यालय के हेड एंड्री यरमाक ने दुनिया से अपील की है कि वे रूस के खिलाफ यूक्रेन की मदद करें। उन्होंने शुक्रवार को एक टेलीग्राम पोस्ट में रूसी अटैक्स को आतंकी हमला करार दिया। उन्होंने कहा कि अब रॉकेट और मिसाइलें फिर से शहर में दागे जा रहे हैं। आम नागरिकों को निशाना बनाया जा रहा है। यह आतंकवादी हमले की स्थिति है। उन्होंने कहा कि यह दुनिया को देखना चाहिए कि आतंकवादी हमलों से निपटने के लिए हमें और सपोर्ट की जरूरत है।

अन्य समाचार