मुख्यपृष्ठअपराधपढ़ाई में अपना बेटा पिछड़ा तो मां ने टॉपर को मार डाला!

पढ़ाई में अपना बेटा पिछड़ा तो मां ने टॉपर को मार डाला!

  • मासूम के जूस में मिलाया था जहर

एजेंसी / पुडुचेरी
बच्चों के बीच अक्सर प्रतिस्पर्धा देखने को मिलती है। दूसरे बच्चे के कपड़े, खिलौने, पढ़ाई आदि से जलन रखना बच्चों का स्वभाव होता है। लेकिन पुडुचेरी के कराईकल में एक बच्चे का होनहार होना, उसका काल बन गया। आठवीं कक्षा में पढ़नेवाले उक्त बच्चे ने कक्षा में टॉप किया था। ये बात उस बच्चे की क्लास में सेकेंड आनेवाले बच्चे की मां बर्दाश्त नहीं कर पाई। सेकेंड टॉपर की मां ने टॉप करनेवाले बच्चे को जहर देकर मार डाला। आरोपी मां को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।
मृतक छात्र की पहचान १३ वर्षीय बाला मणिकंदन के रूप में हुई है, जो नेहरू कॉलोनी में रहता था और कराईकल के प्राइवेट स्कूल में पढ़ता था। उसने हाल ही में अपनी क्लास में टॉप किया था। इससे परीक्षा में दूसरे नंबर पर रहे छात्र की मां विक्टोरिया दुखी थी। इसके चलते उसने बाला को मारने की योजना बनाई। पुलिस ने बताया कि शनिवार को स्कूल से आने के बाद छात्र की तबीयत बिगड़ गई। उसे लगातार उल्टी होने लगी। जब उसकी मां ने उससे पूछा कि क्या उसने स्कूल में कुछ खाया तो उसने बताया कि उसने जूस पिया था, जो चौकीदार ने उसे दिया था। बच्चे को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। बाला के माता-पिता ने चौकीदार से पूछा कि उसे जूस क्यों दिया था, तो उसने बताया कि एक महिला उसके पास आई और बोली कि यह जूस बाला को दे देना, यह उसके घर से आया है। सीसीटीवी फुटेज खंगालने पर महिला चौकीदार को जूस देती नजर आई। बाद में उसकी पहचान बाला के क्लासमेट अरुल मैरी की मां विक्टोरिया के रूप में हुई। पुलिस ने विक्टोरिया को न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

अन्य समाचार