मुख्यपृष्ठनए समाचारफडणवीस गृह मंत्रालय पर ध्यान कब देंगे? ... अंगुली काटनेवाली घटना पर...

फडणवीस गृह मंत्रालय पर ध्यान कब देंगे? … अंगुली काटनेवाली घटना पर सरकार को घेरा

ननावरे मामले पर आक्रमक हुई कांग्रेस
सरकार पर लगाया अपराधियों को बचाने का आरोप

सामना संवाददाता / मुंबई
जनता को झूठे सपने दिखाकर २०१४ में सत्ता में आई भाजपा का असली चेहरा सामने आ गया है और जनता अपने धोखे पर पछताने लगी है। ‘एक ही भूल कमल का फूल’, ऐसी प्रतिक्रिया लोगों में उमड़ने लगी है। लेकिन अब जिस उंगली से भाजपा को वोट दिया, उसी उंगली को काटना दिमाग सुन्न कर देनेवाला है। अब लोगों में यह भावना बढ़ गई है कि उन्होंने भाजपा को वोट देकर अपने पैरों पर कुल्हाड़ी मार ली है और भाजपा को इसकी भारी कीमत चुकानी पड़ेगी, ऐसी चेतावनी महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष नाना पटोले ने दी है। इस संदर्भ में बोलते हुए पटोले ने कहा कि भय और भ्रष्टाचार भारतीय जनता पार्टी का चाल और चलन है। केंद्र की भाजपा सरकार की तरह ही महाराष्ट्र में भाजपा के नेतृत्ववाली सरकार भी जनता के बीच अलोकप्रिय हो गई है।
सत्ता पक्ष के विधायक, सांसद खुलेआम दबंगई कर रहे हैं। मुंबई में शिंदे गुट के विधायक बेटे ने एक व्यापारी का अपहरण करके पीटा, दूसरे विधायक ने गोलीबारी की। एक विधायक अधिकारियों की आंखें निकाल लेने की भाषा का उपयोग कर रहा है। केंद्र के मंत्री औकात दिखाने की भाषा बोल रहे हैं। उल्हासनगर के नंदकुमार ननावरे ने सत्ताधारी पार्टी के विधायकों, सांसदों और उनके सहयोगियों द्वारा परेशान किए जाने के बाद अपनी पत्नी के साथ तीसरी मंजिल से कूदकर आत्महत्या कर ली, लेकिन पुलिस जांच ठीक से नहीं कर रही थी। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होने पर नंदकुमार के भाई धनंजय ननावरे ने चाकू से वह उंगली काट दी, जिसने भाजपा को वोट दिया था। जब तक न्याय नहीं मिलेगा, तब तक उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को हर सप्ताह शरीर का एक अंग काटकर भेजूंगा, ऐसी चेतावनी दी है। यह घटना दिमाग सुन्न कर देनेवाली है। गृहविभाग के पास इस मामले पर बोलने के लिए कोई शब्द नहीं है, राजनीतिक दलों को तोड़ने के अपने व्यस्त कार्यक्रम के कारण उन्हें गृहविभाग पर ध्यान देने का समय भी नहीं मिलता है। महाराष्ट्र की जनता भाजपा और फडणवीस की राजनीतिक खींचतान से तंग आ चुकी है, ऐसा पटोले ने कहा।
उम्मीद है कि मुख्यमंत्री और गृहमंत्री इस बात पर ध्यान देंगे कि उल्हासनगर में पति-पत्नी को आत्महत्या के लिए मजबूर करनेवालों को तत्काल और कड़ी सजा दी जाएगी। ननावरे मामले में सरकार को बिना भेदभाव किए कार्रवाई करने का साहस दिखाना चाहिए। आरोपी बड़ा हो या छोटा उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। पटोले ने यह भी कहा कि केवल विपक्षी दलों के लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनेवाले फडणवीस और शिंदे को सत्ता में शामिल विधायकों-सांसदों के खिलाफ कार्रवाई करने का साहस दिखाना चाहिए।

अन्य समाचार