मुख्यपृष्ठनए समाचारमोहनराज में सलाखों के पीछे कब होगा ‘गुना का गुनहगार'!

मोहनराज में सलाखों के पीछे कब होगा ‘गुना का गुनहगार’!

सरकार के आशीर्वाद से सड़क पर दौड़ रही थी बस 
सालों से न फिटनेस सर्टिफिकेट, न इंश्योरेंस
सामना संवाददाता / भोपाल 
मध्य प्रदेश के गुना में हुए भीषण सड़क हादसे में १३ यात्रियों की दर्दनाक मौत हो गई जबकि १७ लोग घायल हुए हैं। अब इसमें धीरे-धीरे कई खुलासे हो रहे हैं जो कि चौंकानेवाला है। बताया जाता है कि हादसे का शिकार हुई बस बीजेपी के एक पूर्व जिला उपाध्यक्ष के भाई के नाम पर रजिस्टर्ड है। बस के फिटनेस सर्टिफिकेट और इंश्योरेंस सर्टिफिकेट की डेडलाइन काफी पहले एक्सपायर हो चुके थे। ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सरकार के आशीर्वाद से यह बस सड़क पर दौड़ रही थी। सवाल यह भी उठता है कि इस हादसे में अब भाजपा नेता का कनेक्शन निकल आया है तो क्या पीड़ितों को न्याय मिल पाएगा?
क्या था मामला?
बताया जाता है कि जब ३० यात्रियों से भरी बस गुना से आरोन जा रही थी तभी बस की टक्कर डंपर से हो गई। जिसके बाद बस में आग लग गई। आग में १३ लोग जल गए और १७ घायल हो गए। हादसे की भयावहता का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि कुछ शव पूरी तरह जल चुके थे, प्रशासन ने शवों की पहचान करने के लिए डीएनए मिलान का सहारा लेने का निर्णय लिया है। सीएम मोहन यादव ने घटना में मारे गए लोगों के परिवारों को चार-चार लाख रुपए और घायलों को ५०-५० हजार रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।
लापरवाही की हद तोड़ दौड़ रही थी बस 
रिपोर्ट्स के अनुसार, दुर्घटनाग्रस्त बस बीजेपी के पूर्व जिला उपाध्यक्ष विश्वनाथ सिकरवार के भाई भानु प्रताप सिकरवार के नाम रजिस्टर्ड है। दुर्घटनाग्रस्त बस का फिटनेस सर्टिफिकेट साल २०१५ में ही खत्म हो गया था। वहीं इंश्योरेंस भी २००९ में एक्सपायर हो गया था। यही नहीं बस का रोड टैक्स साल २०२१ से नहीं भरा गया था। फिर भी बस सड़क पर दौड़ रही थी। सवाल यह उठता है कि आखिर यह बस इतने सालों तक वैâसे सड़क पर दौड़ रही थी, संबंधित अधिकारियों ने इस तरफ ध्यान क्यों नहीं दिया।
कांग्रेस ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग
राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने एक्स पर लिखा है कि ‘गुना से आरोन जाने वाली बस में दुखद घटना होने के समाचार प्राप्त हुए हैं। अभी तक १३ से ज्यादा लोग मारे गए हैं व १५ बुरी तरह जल गए। ऐसी जानकारी मिली है कि यह बस बिना परमिट के बिना फिटनेस के चल रही थी इस घटना की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए और दोषियों पर सख्त कार्यवाही होनी चाहिए। कमलनाथ ने भी दुख जताते हुए लिखा है ‘प्रदेश के गुना जिले में बुधवार को डंपर से टक्कर के बाद यात्री बस में आग लगने से १३ लोग जिंदा जल गए और कई लोग झुलस गए। ईश्वर मृतकों की आत्मा को शांति प्रदान करे और परिजनों को यह दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करे। मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

अन्य समाचार