मुख्यपृष्ठनए समाचारसोमरटन बीच पर पाया गया वो शव किसका था?... ऑस्ट्रेलिया का अनसुलझा...

सोमरटन बीच पर पाया गया वो शव किसका था?… ऑस्ट्रेलिया का अनसुलझा किस्सा

मनमोहन सिंह

अगस्त १९४९। ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड इलाके के एक पुलिस स्टेशन में एक व्यक्ति पहुंचा। उसने दावा किया कि एडिलेड के सोमरटन बीच में शव मिलने के तुरंत बाद उसे अपनी कार के पीछे `रुबैयत’ की एक प्रति मिली। कार उसने सोमरटन बीच के पास पार्वâ की थी। जब उसने अखबार में उस शव की पैंट से मिले एक पेज के बारे में पढ़ा तो उसने गौर किया कि वह पन्ना निश्चित रूप से पुस्तक के अंतिम पृष्ठ का एक हिस्सा था और यह कागज के उस टुकड़े से मेल खाता था, जो सोमरटन मैन के पतलून में पाया गया था। किताब के अंदर एक फोन नंबर और कुछ अजीब कोड थे। फोन नंबर अधिकारियों को जेसिका नाम की महिला तक ले गया।
पूछताछ के दौरान जेसिका पहले बहुत टाल-मटोल की, लेकिन बाद में उसने कहा कि उसने किताब अल्प्रेंâड बॉक्सल नाम के एक व्यक्ति को बेची थी। अल्प्रेंâड बॉक्सल उस समय भी जीवित थे और उनके पास अभी भी रुबैयत की प्रति थी, जो जेसिका ने उन्हें बेची थी। जो कोड पाया गया वह और भी अधिक अनुपयोगी था और आज तक, इसे अभी भी व्रैâक नहीं किया जा सका है। आज तक सोमरटन बीच पर उस व्यक्ति की पहचान नहीं हो पाई है।
कहानी शुरू होती है ८ महीने पहले। दिसंबर १९४८ में ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड के सोमरटन बीच पर एक शव मिला था। शव एक आदमी का था, जिसने पॉलिश किए हुए जूतों के साथ सूट पहना हुआ था और उसका सिर दीवार से टिका हुआ था। पुलिस अधिकारियों ने सोचा कि मौत का कारण हृदय गति रुकना या संभवत: जहर था, लेकिन शव परीक्षण में जहर का कोई निशान नहीं पाया गया।
उस व्यक्ति के पास कोई बटुआ या किसी भी प्रकार की पहचान नहीं थी और उसके कपड़ों से सभी टैग काट दिए गए थे। फिंगरप्रिंट से भी उसकी शिनाख्त नहीं हो पाई। उन्होंने शव की फोटो अखबारों में भी डाल दी, फिर भी कोई नहीं पहचान सका कि वह आदमी कौन था। शव मिलने के चार महीने बाद जासूसों को एक छिपी हुई जेब मिली, जो उसके पतलून के अंदर सिल दी गई थी। जेब के अंदर `रुबैयत’ नामक एक दुर्लभ पुस्तक के एक पेज का टुकड़ा था।
उस कागज के टुकड़े पर `तमम शुद’ शब्द लिखा था, जिसका अर्थ है `यह समाप्त हो गया है।’ महीनों तक सटीक किताब की तलाश करने के बाद अधिकारियों ने चूंकि वह शव समर्टन बीच में मिला था, उस शख्स को नाम दे दिया `सोमरटन मैन’। पुलिस अधिकारियों ने बाद में उसे बिना पहचान के दफनाने का पैâसला किया, लेकिन कागज के उस टुकड़े को केमिकल लगाकर सुरक्षित कर दिया गया था। सिर्पâ यही एक कागज का टुकड़ा था, जिसके चलते पता लग सकता था कि आखिर वह इंसान कौन था, जिसका शव बीच के किनारे मिला था। लेकिन आज तक पता नहीं चल पाया कि ऑस्ट्रेलिया के सोमरटन बीच पर पाया गया हुआ शव किसका था?

अन्य समाचार