मुख्यपृष्ठनए समाचारदलों में दूरियां पैदा करनेवालों को अवश्य सबक सिखाएंगे! ... शरद पवार...

दलों में दूरियां पैदा करनेवालों को अवश्य सबक सिखाएंगे! … शरद पवार की मोदी सरकार को चेतावनी

सामना संवाददाता / मुंबई
राज्य में जब से महाविकास आघाड़ी की सत्ता आई है, तब से भाजपा लगातार विरोधी दलों को तोड़ रही है। पहले शिवसेना उसके बाद राकांपा को तोड़ा। भाजपा दोनों दलों से अलग हुए गुटों को साथ लेकर सरकार चला रही है। इसको लेकर राकांपा ने भाजपा पर निशाना साधा है।
शरद पवार कल शुक्रवार को सातारा के दहीवड़ी गए हुए थे। दहीवड़ी नगर पंचायत के नए भवन का उद्घाटन शरद पवार के हाथों किया गया। इस अवसर पर कार्यकर्ताओं द्वारा शरद पवार का जोरदार स्वागत किया। इस मौके पर उपस्थित कार्यकर्ताओं को पवार ने संबोधित किया। अपने संबोधन में शरद पवार ने भाजपा को चेतावनी देते हुए कहा कि जिन लोगों के दलों को तोड़ने का काम किया है, हम उन लोगों को सबक अवश्य सिखाएंगे।
उन्होंने कहा कि कभी भी प्याज पर टैक्स नहीं लगाया। भाजपा सरकार को किसानों की तरफ देखने की भी फुरसत नहीं है। भाजपा सरकार लोगों की तकलीफ कम करने की बजाय बढ़ाने का काम कर रही है। जिन लोगों की हाथ में सत्ता है, वे इसका इस्तेमाल दलों को तोड़ने के लिए कर रहे हैं। लोगों के बीच दूरियां बढ़ाई जा रही हैं। केंद्र सरकार पार्टी में फूट डालकर एक अलग छवि बनाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि अब लोगों के ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेदारी आ गई है। दलों को तोड़कर लोगों के बीच दूरियां पैदा की जा रही हैं। इसके खिलाफ हम सभी को एकजुट और मजबूत होना चाहिए। हम सामूहिक ताकत का निर्माण करके विभाजन करनेवाली पार्टी भाजपा को सबक सिखा सकते है, इसके लिए हमें मेहनतकश और युवाओं को अपने साथ लाने की जरूरत है। हम सभी एक रहेंगे तो भाजपा को अवश्य सबक सिखाने में कामयाब होंगे। यह राज्य फुले-आंबेडकर-शाहू का है। हमारे पास किसी भी संकट से बाहर निकलने की ताकत है, ऐसा पवार ने स्पष्ट किया।

महाराष्ट्र में देखने को मिलेगा अजीत पवार रिटर्न्स पार्ट-२ -कांग्रेस
राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष और सांसद शरद पवार के बयान से राजनीतिक चर्चा शुरू हो गई है। महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्य प्रवक्ता अतुल लोंढे ने कहा, ‘शरद पवार के बयान का सीधा मतलब यह निकाला जा सकता है कि महाराष्ट्र और देश को अजीत पवार की वापसी पार्ट-२ देखने को मिल सकती है।’ वरिष्ठ नेता शरद पवार के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता अतुल लोंढे ने कहा कि शरद पवार ने बार-बार स्पष्ट किया है कि वह किसी भी हालत में भाजपा के साथ नहीं जाएंगे और ‘इंडिया’ गठबंधन के साथ बने रहेंगे, इसलिए अब उनके बयान की अलग तरह से व्याख्या करने की जरूरत नहीं है, लेकिन राज्य सरकार में शामिल हुए उपमुख्यमंत्री अजीत पवार और उनके सहयोगी अभी भी शरद पवार को अपना नेता मानते हुए उनके सामने नतमस्तक हैं। इसका साफ मतलब है कि भाजपा ने जो राजनीतिक गंदगी फैलाई है, उसका जवाब अजीत पवार की वापसी से दिया जा सकता है। लोंढे ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने तोड़फोड़ की राजनीति कर विपक्षी दल को तोड़ने का पाप किया है। भाजपा ने सबसे पहले उद्धव ठाकरे की शिवसेना को तोड़कर महाविकास आघाड़ी सरकार गिरा दी और एकनाथ शिंदे के समर्थन से सरकार बनाई।

अन्य समाचार