मुख्यपृष्ठनए समाचारमहाराष्ट्र में बढ़ा जाड़ा मुंबई में फिर लुढ़का पारा

महाराष्ट्र में बढ़ा जाड़ा मुंबई में फिर लुढ़का पारा

धीरेंद्र उपाध्याय / मुंबई

इस बीच दक्षिण हिंदुस्थान के केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक में शीतकालीन बारिश समाप्त हो गई है। उत्तर हिंदुस्थान से आनेवाली ठंडी हवाओं ने न्यूनतम तापमान ४ से ५ डिग्री तक कम कर दिया। उत्तर हिंदुस्थान में १७ जनवरी तक घना कोहरा छाया रहेगा और कड़ाके की ठंड भी रहेगी। ऐसे में महाराष्ट्र में कई जगहों पर कोहरा छाया रहेगा और कड़ाके की ठंड महसूस होगी।

महाराष्ट्र में एक बार फिर से ठंडी ने जोर पकड़ लिया है। प्रदेश की जनता जोरदार जाड़े का सामना कर रही है। कई जिलों में पारा १० डिग्री से नीचे पहुंच गया है। कल प्रदेश के छत्रपति संभाजीनगर में सबसे कम ९.२ डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। दूसरी तरफ मुंबई में एक बार फिर से रात का पारा लुढ़कते हुए १६.२ पर पहुंचा है, जो इस सीजन का सबसे कम तापमान दर्ज हुआ है। अनुमान लगाया गया है कि बुधवार को यह १७ डिग्री सेल्सियस तक लुढ़क सकता है। दूसरी तरफ मध्य महाराष्ट्र में बना हाई प्रेशर सिस्टम अब पूरब की ओर बढ़ गया है। ऐसे में उत्तर से कोकण की ओर आनेवाली हवाएं बिना रोक के मुंबई में प्रवेश करेंगी। मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि अगले चार दिनों तक प्रदेश में जमकर शीतलहर चलेगी।
मकर संक्रांति के दिन से ही प्रदेश में शीतलहर का सिलसिला बढ़ गया है। पुणे, मुंबई समेत राज्य के कई शहरों में तापमान में गिरावट आई है। महाराष्ट्र के सोलापुर में १४.५, सांगली में १५.८, सातारा में १२.४, कोल्हापुर में १६.९, छत्रपति संभाजीनगर में ९.२, नांदेड़ में १४, नासिक में ९.८, सांताक्रूज में १६.२, हर्नाई में १९.४, नगर में ९.६, पुणे में १०.८, डहाणू में १५.५, रत्नागिरी में १६.३, महाबलेश्वर में १४.७, कोलाबा में १८.८, धाराशिव में १७, बारामती में १०.८, जालना में ११.०, घोरपडे में ८.३०, परभणी में १३.५, माथेरान में १४.०, मालेगांव में ११.४, जलगांव में ९.४ डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। संक्रांति के दिन उत्तरायण शुरू होते ही शाम के बाद तापमान बढ़ने की बजाय गिरने लगा है। इसलिए अभी बहुत ज्यादा ठंड महसूस हो रही है।
मुंबई में ६ जनवरी को रहा सबसे कम तापमान
मुंबई के उपनगर में दिसंबर महीने में सामान्य तौर पर औसतन अधिकतम तापमान ३२.६ डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान १८.४ डिग्री सेल्सियस होना चाहिए, लेकिन इस बार अधिकतम तापमान ३३.५ डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान २१.१ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस सीजन में अब तक केवल एक बार ६ जनवरी को ही सबसे कम न्यूनतम तापमान १७.५ डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। हालांकि, कल इस रिकॉर्ड को तोड़ते हुए मुंबई में १६.२ डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।
ठंड का नहीं हो रहा अहसास
मुंबई में अधिक ठंड न पड़ने के कई कारण हैं। अरब सागर में कुछ सिस्टम बने हैं। साथ ही दक्षिण-पश्चिम से हवा और उत्तर में जितनी बर्फबारी होनी चाहिए थी, वह भी नहीं हुई है। अगर उत्तर में अच्छी बर्फबारी होती है तो वहां से कोकण की ओर आनेवाली ठंडी हवाएं तापमान में गिरावट लाती हैं। इस बार बर्फबारी भी देरी से शुरू हुई। फिर एक के बाद एक सिस्टम इसमें बाधा बने। फिलहाल, मुंबई को भरपूर ठंड पड़ने की संभावना बेहद कम है।

अन्य समाचार