मुख्यपृष्ठनए समाचारएक साल के भीतर दुनिया में २८% कर्मचारी नौकरी छोड़ने की तैयारी...

एक साल के भीतर दुनिया में २८% कर्मचारी नौकरी छोड़ने की तैयारी में! …उन्हें चाहिए अच्छा वेतन, काम का समय और अच्छा व्यवहार

बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप की सर्वे रिपोर्ट
सामना संवाददाता / नई दिल्ली
इस समय देश में बेरोजगारी चरम पर पहुंच गई है। लोगों को नौकरियां मिलनी मुश्किल हो गई हैं। लेकिन जिनके पास नौकरियां हैं, उन्हें अच्छे वेतन व काम के समय के साथ ही दफ्तर में अच्छा माहौल भी चाहिए। ऐसा न होने के कारण २८ प्रतिशत कर्मचारी अपनी वर्तमान नौकरी छोड़ने पर विचार कर रहे हैं। ऐसी जानकारी एक सर्वे रिपोर्ट में सामने आई है।
बोस्टन कंसल्टिंग ग्रुप (बीसीजी) द्वारा कराए गए इस सर्वे रिपोर्ट में दावा किया गया है कि २८ प्रतिशत कर्मचारी एक साल के भीतर अपनी नौकरी छोड़ने की सोच रहे हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार कुल २८ प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा कि वे अपनी वर्तमान कंपनी के साथ काम के इच्छुक नहीं हैं। एक ओर जहां वैश्विक स्तर पर २८ फीसदी कर्मचारी अपनी नौकरी छोड़ने पर विचार कर रहे हैं, वहीं हिंदुस्थान में यह अनुपात २६ फीसदी है। इससे देश में कंपनियों के २६ फीसदी कर्मचारी एक साल के भीतर अपनी वर्तमान कंपनी बदल सकते हैं। यह सर्वे ६ अक्टूबर से ३० अक्टूबर २०२३ तक दुनियाभर के कुल आठ देशों में किया गया था। इन आठ देशों में अमेरिका, कनाडा, ब्रिटेन, प्रâांस, जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया, जापान और हिंदुस्थान शामिल हैं। बीसीजी ने इस सर्वे के लिए मुख्य रूप से २० विषयों पर प्रश्न पूछे थे। इनमें से आधे वास्तविक कार्य से संबंधित थे, जबकि शेष प्रश्न कर्मचारियों की भावना व स्वास्थ्य से संबंधित थे।
सर्वेक्षण में पांच बातें सामने आईं जो कर्मचारियों के लिए सबसे महत्वपूर्ण हैं। इसके अनुसार, वेतन और काम के घंटों को पहले और दूसरे स्थान पर रखा गया है। हालांकि, कर्मचारियों ने कार्यस्थल पर अच्छे व्यवहार को तीसरी प्राथमिकता दी है। इसके अलावा नौकरी की सुरक्षा कर्मचारियों के लिए चौथा सबसे अहम मुद्दा बन गया है और पांचवें स्थान पर कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें ऐसा काम चाहिए, जिससे उन्हें खुशी मिले।

अन्य समाचार