मुख्यपृष्ठनए समाचारभरी सभा में महिलाओं ने की दादा की बोलती बंद! ... कचरे...

भरी सभा में महिलाओं ने की दादा की बोलती बंद! … कचरे पर मचाया कोहराम

सामना संवाददाता / मुंबई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देशभर में ‘स्वच्छता अभियान’ चलाया गया है। इस ‘स्वच्छता अभियान’ में देश भर में लाखों लोगों ने हिस्सा लिया। राष्ट्रीय स्वच्छता मिशन के लिए प्रधानमंत्री मोदी के आह्वान के बाद छात्रों, नेताओं और जीवन के विभिन्न क्षेत्रों के लोगों ने रविवार, १ अक्टूबर को एक घंटे के लिए स्वेच्छा से योगदान दिया। बारामती में सफाई अभियान में उपमुख्यमंत्री अजीत पवार भी शामिल हुए।
इसी दौरान एक महिला ने कूड़े को लेकर अजीत पवार से शिकायत की और कोहराम मचाया। इसके बाद कई महिलाओं ने भरी सभा में अजीत पवार से कचरे की गाड़ी नहीं आने की शिकायत की। बताया जाता है कि महिलाओं की एक साथ आई शिकायतों से दादा की बोलती बंद हो गई। इसके बाद अजीत पवार ने मौजूद अधिकारियों को महिलाओं की समस्या का तत्काल समाधान करने का आदेश दिया।
वास्तव में क्या हुआ?
अजीत पवार ने कहा, ‘हमने श्रमदान से बारामती शहर में सफाई का काम किया। मैं बारामतीकरों द्वारा की गई पहल के लिए उन्हें बधाई देता हूं। यदि हम अपना कचरा, गंदगी उचित कूड़ेदान में डालेंगे तो स्वच्छता का प्रश्न ही नहीं उठेगा।’ इस मौके पर अजीत पवार ने उपस्थित सभी लोगों को स्वच्छता की शपथ दिलाई। इसके बाद अनंत नगर की महिलाओं ने कहा, ‘दादा, यहां कूड़ा उठानेवाली गाड़ी नहीं आती। आती भी है तो रुकती भी नहीं, घंटी गाड़ी चालू करो, गंदगी नहीं होगी।’ इस पर अजीत पवार ने कहा, ‘आप लोगों का सुझाव सही है।’ अजीत पवार ने मुख्याधिकारी को हर दिन गाड़ी भेजने का निर्देश दिया।

अन्य समाचार