मुख्यपृष्ठनए समाचारबारिश में नहीं डूबेगा  हिंदमाता!... पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने किया दौरा

बारिश में नहीं डूबेगा  हिंदमाता!… पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने किया दौरा

• भूमिगत जल संचय टंकी का काम पूरा
• २.८७ करोड़ लीटर टंकी की है क्षमता
• डिलाइल रेलवे उड़ानपुल निर्माण और हिंदमाता भूमिगत जल संचय टंकी के कार्यों का किया निरीक्षण
सामना संवाददाता / मुंबई । पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि हिंदमाता क्षेत्र की भौगोलिक रचना के चलते भारी बारिश होने पर यहां का निचला इलाका जलमग्न हो जाता है। इस समस्या को पूरी तरह से दूर करने के लिए मनपा के सेंट जेवियर्स मैदान में भूमिगत जल संचय टंकी का निर्माण चल रहा है, जो लगभग पूरा हो चुका है। उन्होंने कहा कि इस टंकी में २.८७ करोड़ लीटर पानी भंडारण की क्षमता है। इस योजना से हिंदमाता परिसर में बारिश से होने वाले जलजमाव की समस्या से निजात मिलेगी। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि ठीक इसी तरह की टंकी का निर्माण प्रमोद महाजन उद्यान में भी किया जा रहा है। हिंदमाता क्षेत्र में वर्षा जल संचयन की समस्या का समाधान ऐतिहासिक होगा। भारी बारिश में भी ट्रैफिक बिना रुके चलता रहेगा। बता दें कि उन्होंने रविवार को दौरा कर लोअर परेल रेलवे स्टेशन के निकट डिलाइल रेलवे उड़ानपुल निर्माण और हिंदमाता भूमिगत जल संचय टंकी के कार्यों का निरीक्षण किया।
नालों की सफाई का लेंगे जायजा
पंपिंग स्टेशन और भूमिगत जल भंडारण टंकी के चलते बारिश के पानी को तेजी से निकालने में मदद मिल रही है। ऐसे में हिंदमाता क्षेत्र के लोगों को अब पहले से कहीं अधिक राहत मिली है, जिसका अनुभव मिलने लगा है। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि मिलन मेट्रो और अन्य निचले इलाकों का अध्ययन कर इसी तरह के उपाय किए जाएंगे। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि मुंबई में शुरू नालों की सफाई का अगले सप्ताह दौरा कर जायजा लेंगे।
खतरनाक होने पर तोड़ा गया रेलवे उड़ानपुल
लोअर परेल रेलवे स्टेशन के निकट डिलाइल उड़ानपुल खतरनाक होने पर उसे धराशायी कर दिया गया है। ८५ मीटर लंबे उड़ानपुल का निर्माण करने के लिए मुंबई मनपा ने रेलवे को निधि दी है। इसके साथ ही इस पुल पर ना. म. जोशी मार्ग से आनेवाले दो और गणपतराव कदम मार्ग से आनेवाले एक, तीनों को मिलाकर कुल ६०० मीटर लंबी सड़क का निर्माण मनपा कर रही है। दौरे में पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे के साथ विधायक सुनील शिंदे, अतिरिक्त मनपा आयुक्त (प्रकल्प) पी. वेलरासू, पूर्व मंत्री सचिन अहिर, पूर्व महापौर स्नेहल आंबेकर, पूर्व नगरसेवक आशीष चेंबूरकर, उपायुक्त (मूलभूत सुविधा) उल्हास महाले, प्रमुख अभियंता (पुल) सतीश ठोसर, जी/दक्षिण विभाग के सहायक आयुक्त शरद उघडे सहित संबंधित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
देरी पर रेलवे मंत्री को पत्र, नहीं आया कोई जवाब
पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने रेलवे द्वारा शुरू हुए काम में हो रही देरी के साथ ही इसमें गति दिए जाने को लेकर केंद्रीय रेलवे मंत्री को पत्र लिखा है। हालांकि पत्र का अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है। इसे लेकर रेलवे के साथ बैठक की गई है। रेलवे की तरफ से इस काम को ३० अक्टूबर तक पूरा करने की अवधि दी गई है। उन्होंने कहा कि जब तक रेलवे प्रशासन की तरफ से शुरू काम पूरा नहीं होता है तब तक मनपा आगे के कामों को नहीं कर सकती है। ऐसे में आखिरकार किन तकनीकी कारणों से रेलवे के कामों में विलंब हो रहा है, उसे रेलवे प्रशासन द्वारा जनता के सामने लाना आवश्यक है। अब तक मनपा द्वारा शुरू किए गए मार्गों के लिए आवश्यक काम तेजगति से शुरू किया गया है। ऐसे में यदि रेलवे गर्डर का निर्माण पूर्ण करता है तो मनपा द्वारा शेष कामों को भी आसानी से जल्द पूरा किया जा सकेगा।

अन्य समाचार