मुख्यपृष्ठअपराधकोरोना काल में एमएससी पास की कारस्तानी:बेच दिया तीन हजार करोड़ का...

कोरोना काल में एमएससी पास की कारस्तानी:बेच दिया तीन हजार करोड़ का ड्रग्स!

सामना संवाददाता / मुंबई
मुंबई पुलिस के एंटी नार्काेटिक्स सेल ने पांच महीने पहले २५० ग्राम एमडी ड्रग्स तस्करी के आरोप में गोवंडी से आरोपी को गिरफ्तार किया था। इसकी जांच करते हुए पुलिस ड्रग्स माफियाओं तक पहुंच गई, जो शहर में ड्रग्स सप्लाई करते थे। इनके सिंडिकेट का पर्दाफाश करते हुए मुंबई पुलिस ने पांच महीने में मुंबई और गुजरात से १,२१८ किलोग्राम मेपेâड्रोन ड्रग (एमडी) जप्त किया है, जिसकी इंटरनेशनल बाजार में कीमत २,४३५ करोड़ रुपए आंकी गई है। पुलिस के मुताबिक गिरफ्तार सात आरोपियों में एक आरोपी ने पूर्वांचल विश्वविद्यालय से ऑर्गेनिक केमिस्ट्री में मास्टर्स ड्रिगी ली है। पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि आरोपियों ने कोरोना काल में करीब ३ हजार करोड़ से ज्यादा की ड्रग बेची है। इस पैसे से मुंबई शहर में १५ से ज्यादा फ्लैट खरीदे और करोड़ों रुपए इनके खाते में जमा है। इसके अलावा इससे भी ज्यादा बेनामी संपत्ति होने की आशंका जताई है।
उपायुक्त दत्ता नलावडे ने बताया कि इस मामले में पुलिस ने सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें पांच आरोपी जेल में बंद हैं, जबकि दो आरोपियों की पुलिस ने कस्टडी ली है। पुलिस के मुताबिक नालासोपारा से पकड़ा गया आरोपी प्रेमप्रकाश सिंह आर्गेनिक केमिस्ट्री में पोस्ट ग्रेजुएट है। अपनी इस दक्षता का इस्तेमाल वो मेफेड्रोन के लिए केमिकल बनाने में करता था। जांच के दौरान अधिकारियों ने पाया कि प्रेमप्रकाश विभिन्न आपूर्तिकर्ताओं को अवैध रूप से मेफेड्रोन केमिकल बेचा करता था। पिछले दो वर्षों में उसके द्वारा तीन हजार करोड़ यानी डेढ़ टन मेफेड्रोन सप्लाई करने का खुलासा हुआ है।

अन्य समाचार

ऊप्स!