मुख्यपृष्ठसमाचारकाम की बात : बुढ़ापे का आधार! पीएम किसान मानधन योजना का...

काम की बात : बुढ़ापे का आधार! पीएम किसान मानधन योजना का ऐसे उठाएं लाभ

  • योगेश सोनी

हमारे देश की जान किसान हैं, जिसको मजबूत बनाना हर सरकार का उद्देश्य व फर्ज होता है। आर्थिक मदद पहुंचाने के लिए सरकार समय-समय पर अलग-अलग योजनाएं लेकर आती है। ऐसी ही एक सरकारी योजना है पीएम किसान मानधन योजना। इस योजना के तहत सरकार किसानों की मदद करती है। पीएम किसान मानधन योजना के तहत सरकार किसानों को साल में ३६ हजार रुपए देती है। हर महीने सरकार की ओर से किसानों को तीन हजार रुपए की मदद दी जाती है। हालांकि इसके लिए किसानों को हर महीने कुछ रुपए सरकार की इस योजना में जमा करवाने पड़ते हैं चूंकि इससे इस बात का प्रमाण मिलता है कि कोई बेईमानी तो नहीं कर रहा क्योंकि कई मामलों में देखा गया है कि लोग फर्जी दस्तावेज व मृत्यु के बाद भी सरकारी योजनाओं का लाभ ले रहे होते हैं। याद रहे कि सरकारी कागजों में छेड़छाड़ या फर्जी कागज लगाकर किसी योजना का लाभ लेना कानूनी अपराध माना जाता है। इस योजना का लाभ १८ साल से अधिक उम्र वाले युवा से लेकर ४० साल की उम्र वाले किसान उठा सकते हैं। पीएम किसान मानधन योजना के नियमानुसार, किसानों को हर महीने ५५ रुपए से लेकर २०० रुपए तक पेंशन फंड  में जमा करवाने होते हैं। किसान की उम्र जब ६० साल से अधिक हो जाती है तब उन्हें हर महीने तीन हजार रुपए की मासिक पेंशन मिलती है। यदि किसान की उम्र १८ साल है तो उसे हर महीने ५५ रुपए जमा करवाने होते हैं और अगर किसान की उम्र ४० है तो उसे २०० रुपए जमा करवाने होते हैं। किसान मानधन योजना का लाभ लेने के लिए आप ऑफलाइन या ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवा सकते हैं। यदि आप ऑफलाइन तरीके से रजिस्ट्रेशन करवाना चाहते हैं तो आपको अपने करीब के कॉमन सर्विस सेंटर पर जाना होगा। वहां आपको मांगे गए डॉक्यूमेंट्स जमा करवाने होंगे या आप संबंधित वेबसाइट पर जाकर सेल्फ एनरोलमेंट भी करा सकते हैं। यहां मोबाइल नंबर, ओटीपी आदि की जानकारी आपसे ली जाएगी। यदि आपके पास ये जानकारियां हैं तो आप अपने आस-पास के किसानों को इस योजना से जरूर अवगत कराएं।

अन्य समाचार