मुख्यपृष्ठअपराधघाव: ढोंगियों का भ्रम जाल!

घाव: ढोंगियों का भ्रम जाल!

  • जितेंद्र मल्लाह

किसी की इज्जत, किसी का पैसा तो किसी की दांव पर लगी जान
दुनिया जिस जमाने में सूर्य, चंद्रमा और मंगल की हैसियत नापने की कोशिश कर रही है, उसी जमाने में कुछ लोग चंद्र-मंगल, राहु-शनि आदि ग्रहों का भय दिखाकर, तंत्र-मंत्र और काले जादू से चमत्कार का झांसा देकर मासूम लोगों को मूर्ख बनाते हैं। ऐसे ढोंगियों के झांसे में फंसकर कोई अपनी इज्जत गंवाता है, तो कोई पैसा। कई बार लोगों की जान पर बन आती है। हाल के दिनों में तीन ऐसे ही मामले सामने आए हैं, जिनके बारे में जानकर लोग दांतों तले उंगली दबाने को मजबूर हो गए। सबसे हैरानी की बात ये है कि पढ़े-लिखे लोग भी इस तरह के कृत्यों में आसानी से लिप्त हो जाते हैं।
महाराष्ट्र महिला आयोग ने तात्रिकों के कहने पर महिलाओं के शोषण के तीन अलग-अलग मामलों में ढोंगी तांत्रिकों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश मुंबई पुलिस को दिया है। बीते सप्ताह पुणे की एक संतानहीन महिला को उसके कारोबारी पति और ससुरालीजनों ने नग्न होकर सबके सामने नहाने पर मजबूर किया। पति एवं ससुरालीजनों से तांत्रिक ने कहा था कि ऐसा करने से महिला को बेटा पैदा होगा। पीड़ित महिला ने पति, सास-ससुर और तांत्रिक के खिलाफ २१ अगस्त को केस दर्ज करवाया था। इस मामले में पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।
इसी तरह से सातारा में एक सनसनीखेज घटना का खुलासा हुआ। यहां बीमारी दूर करने का झांसा देकर एक तांत्रिक किशोरी को कमरे में ले गया और अकेले में नींबू से तंत्र क्रिया के बहाने किशोरी को जबरन अपनी हवस का शिकार बना डाला। पुणे शहर में ही एक अन्य घटना में एक आईटी प्रोफेसर ने अपनी अध्यापिका पत्नी एवं अन्य ससुरालीजनों पर काला जादू करने का आरोप लगाया है। पति का आरोप है कि पत्नी और उसके परिजन दो तांत्रिकों की मदद से उसे वश में करने का प्रयास कर रहे हैं। ३७ वर्षीय आईटी प्रोफेसर ने इस मामले में इसी साल मार्च महीने में पुणे की एक स्थानीय अदालत में याचिका दायर की है, जिसे गंभीरता से लेते हुए न्यायालय ने सीआरपीसी की धारा २०० के अंतर्गत जांच करने का आदेश पुलिस को दिया है।
लॉज के मालिक ने बचाई मासूम की जान
संभाजीनगर के फुलउंबरी इलाके से एक ६ वर्षीय बच्चा लापता हो गया था। बच्चे को एक ढोंगी बाबा ने अगवा किया था। सिद्धियों की प्राप्ति के लिए वह अमावस्या के दिन बच्चे की बलि देना चाहता था। बच्चे को लेकर वह हिंगोली जिले के औंढा नागनाथ स्थित श्रीकृपा मंगल कार्यालय एवं लॉज में रह रहा था। लॉज के मालिक को ‘महाराज’ की गतिविधियां संदिग्ध लगी। इसलिए मालिक ने पुलिस को इसकी सूचना दे दी। पुलिस ने ‘महाराज’ से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कबूल कर लिया।
इसी तरह गुप्त धन की लालच में एक साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची की बलि दिए जाने का प्रयास करने के आरोप में पिंपरी-चिंचवड पुलिस ने एक दंपति और तांत्रिक सहित तीन लोगों को बीते जुलाई महीने में गिरफ्तार किया था। बताया जा रहा है कि पुणे के जुन्नर में रहनेवाली महिला और उसके पति गुप्त धन पाने को लालायित थे। तांत्रिक के कहने पर दंपति ने तीन साल की मासूम को अगवा कर लिया था। इस आपराधिक कृत्य में आरोपी महिला ने अपनी बहन और १२ साल के बेटे की मदद ली थी। आरोपी महिला की बहन के पड़ोस में एक दंपति महज तीन महीने से रह रहे थे। उनकी साढ़े तीन साल की बेटी को अगवा करने के लिए आरोपी महिला ने अपने बेटे को बहन के घर भेजा। माता-पिता द्वारा पढ़ाई गई पट्टी के अनुसार साढ़े तीन साल की पीड़ित बच्ची को आरोपी महिला का बेटा चॉकलेट का लालच देकर अपने साथ घर से दूर ले गया और वहां पहले से मौजूद आरोपी दंपति ने उक्त बच्ची को अगवा कर लिया। आरोपियों ने अगली अमावस्या (२८ जुलाई) को बच्ची की बलि देने की योजना बनाई थी लेकिन उससे पहले बच्ची के मां-बाप की शिकायत पर सीसीटीवी फुटेजों को खंगाल रही पुलिस ने १० घंटे से भी कम समय में आरोपियों को ढूंढ़ निकाला और बच्ची को बचा लिया।
बदनसीब निकली नागपुर की मासूम
नागपुर में एक ६ साल की बच्ची की उसके माता-पिता की प्रताड़ना के कारण मौत हो गई। बताया जा रहा है कि बच्ची बोलने में असमर्थ थी। उसका इलाज कराकर थक चुके माता-पिता ने तंत्र-मंत्र के जरिए उसका इलाज कराने का प्रयास किया। तांत्रिक ने बताया कि बच्ची पर शैतानी रूह का साया है। इलाज के लिए बाबा द्वारा बताई गई विधि बच्ची बर्दाश्त नहीं कर पाई और उसकी मौत हो गई।
जीव-जंतु भी नहीं हैं सुरक्षित
तंत्र-मंत्र की इंसानी सनक से जीव-जंतु, पशु-पक्षी भी सुरक्षित नहीं हैं। धन वर्षा, सेक्स पॉवर के चक्कर में दोमुंहे सांप, कछुआ, उल्लू, पेंगोलीन आदि की तस्करी के मामले अक्सर सामने आते हैं। अंधविश्वास के लोग ढोंगी तांत्रिकों के झांसे में फंसकर लाखों रुपए गंवाते हैं। ठाणे जिले में दुर्लभ प्रजाति के दोमुंहा सांप को वन विभाग की टीम द्वारा हाल ही में रेस्कयू किया गया है। पुलिस ने ठाणे जिले के कल्याण नगर से बालू बोआ सांप की तस्करी के आरोप में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि आरोपी ७० लाख रुपए में उक्त रेड सैंड बोआ (दोमुंहा सांप) बेच रहे थे। मध्य एशियाई देशों के लोगों में ऐसा भ्रम है कि दोमुंहे सांप का मांस खाने से कई तरह की बीमारियां ठीक हो जाती हैं। ऐसी मान्यता है कि सैंड बोआ की रीढ़ की हड्डी वशीकरण के लिए उपयोगी होती है। इस सांप को लेकर यह भी कहा जाता है कि सांप से निकले फ्लूड यानी स्राव का उपयोग यौन जीवन के लिए ताकत हासिल करने और एड्स को ठीक करने के लिए किया जा सकता है। जादू-टोना और मर्दाना ताकत के अंधविश्वास के कारण ऐसे कई वन्य जीवों की दुर्लभ प्रजातियां विलुप्त होने की कगार पर पहुंच गई हैं।
प्रेमी को पाने के चक्कर में युवती ने लाखों गंवाए
नई मुंबई में घटी इसी तरह की घटना में पूर्व प्रेमी से टूटे संबंध को वापस जोड़ने के चक्कर में एक युवती को लगभग साढ़े आठ लाख रुपए की चपत लग गई। खारघर में रहनेवाली युवती मुंबई की किसी आईटी कंपनी में काम करती है। नांदेड के एक युवक से उसका प्रेम संबंध था। कुछ दिन पहले किसी बात से नाराज होकर प्रेमी ने संबंध तोड़ लिया था। इससे आहत युवती अपनी एक परिचित महिला के जरिए एक तांत्रिक के पास गई थी। तांत्रिक ने युवती के प्रेमी को वापस उसके पास आने को मजबूर करने का झांसा दिया और अलग-अलग किश्तों में करीब साढ़े आठ लाख रुपए ऐंठ लिए। युवती को जब विश्वास हो गया कि तांत्रिक उसे मूर्ख बना रहा है तो युवती ने खारघर पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करा दी। पुलिस उक्त ढोंगी तांत्रिक को ढूंढ़ रही है।

अन्य समाचार