मुख्यपृष्ठनए समाचारवाह दादा वाह... गुंडे खुलेआम कर रहे हैं प्रचार ...अपराधी गिरोहों की...

वाह दादा वाह… गुंडे खुलेआम कर रहे हैं प्रचार …अपराधी गिरोहों की मदद ले रहे अजीत पवार …रोहित पवार ने साधा निशाना

सामना संवाददाता / मुंबई
लोकसभा चुनाव में तीसरे चरण का प्रचार अब थम गया है। इसके बावजूद बारामती सीट पर सभी का ध्यान केंद्रित है। चूंकि चुनाव प्रचार आम लोगों द्वारा किया जाता है, लेकिन आम लोगों की बजाय यहां गुंडे ही अजीत दादा का खुलेआम प्रचार कर रहे हैं। इस संबंध में राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (शरदचंद्र पवार) के विधायक रोहित पवार ने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट और फोटो शेयर करते हुए उपमुख्यमंत्री अजीत पवार पर निशाना साधा है। रोहित पवार ने यह भी कहा है कि इस प्रवृत्ति को समय रहते रोकने के लिए मंगलवार को मतदान का दिन सबसे महत्वपूर्ण है। रोहित पवार ने कहा कि उपमुख्यमंत्री अजीत पवार कहते हैं कि मैं स्व. यशवंतराव चव्हाण के ‘विचारों’ पर राजनीति करता हूं, लेकिन उन्हें चुनाव में हत्या, फिरौती, धमकी, अपहरण, मोक्का जैसे वारदातों को अंजाम दे चुके अपराधियों और गिरोहों से मदद लेनी पड़ रही है। ‘वाह दादा वाह! आम लोगों के प्रचार करने की बजाय गुंडे ही अजीत दादा का खुलेआम प्रचार कर रहे हैं।

मराठी व्यक्ति को नौकरी देने से इंकार करना दुर्भाग्यपूर्ण
मुंबई में इस समय गुजराती अति आत्मविश्वासी हो गए हैं। वे जानते हैं कि यहां के राजनेता उनके पीछे हैं। इसी अति आत्मविश्वास के कारण दक्षिण मुंबई में मराठी माणुस को नौकरियां नहीं मिलीं। रोहित पवार ने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। वर्तमान में गुजराती नेताओं का आत्मविश्वास और अहंकार बढ़ा हुआ है। ऊपर से आदेश आया कि महाराष्ट्र के उद्योग गुजरात ले जाएं। इस वजह से गुजराती कंपनियां मराठी माणुस को नौकरी देने से इनकार कर रही हैं। रोहित पवार ने कहा कि अगर ऐसा हो रहा है तो मराठी लोगों को ताकत दिखानी होगी। सोशल मीडिया पर अभी मुंबई के गिरगांव इलाके में नौकरी के लिए दिए गए एक विज्ञापन पर विवाद चल रहा है। विज्ञापन में उल्लेख किया गया था कि गिरगांव क्षेत्र में इस नौकरी के लिए मराठी उम्मीदवार आवेदन न करें।

अन्य समाचार