मुख्यपृष्ठनए समाचारवाह रे सरकार, पानी के लिए हाहाकार! ... हिंदुओं के त्योहारों पर...

वाह रे सरकार, पानी के लिए हाहाकार! … हिंदुओं के त्योहारों पर मीरा-भायंदर में जल संकट

६ से ८ दिनों तक रहती है पानी की किल्लत
चंद्रकांत दुबे / भायंदर
मीरा-भायंदर शहर में हिंदुओं के पावन पर्व रक्षाबंधन के अवसर पर ४५ से ४८ घंटे तक पानी आपूर्ति बंद रही। जेसल पार्क चौपाटी कल्याण समिति ने इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि हिंदुत्ववादी होने का दिखावा करने वाली सरकार आखिर क्या कर रही है?
बता दें कि बुधवार और गुरुवार दो दिन रक्षाबंधन का त्योहार मनाया गया, लेकिन घर में पानी नहीं आने से ‘रंग में भंग’ पड़ गया और लोगों के घरों में दो दिन तक पानी नहीं आया। शहर की कई सोसाइटियों ने तो जैसे-तैसे प्राइवेट टैंकर से पानी मंगा कर समस्या का समाधान कर लिया, लेकिन अन्य जगहों पर पानी के लिए हाहाकार मचा रहा। संस्था के महासचिव डॉ. नरेंद्र गुप्ता ने बताया कि भायंदर के जेसल पार्क, आरएनपी पार्क, चंदन पार्क आदि क्षेत्रों में पिछले ४८ घंटे से पानी की सप्लाई बंद है। इस प्रकार त्योहार के अवसर पर करीब ६० घंटे तक बिना पानी के लोगों का जीवनयापन वैâसे होगा? ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है, बल्कि वर्षों से होता आ रहा है। ऐसी अव्यवस्था के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों पर कार्रवाई क्यों नहीं होती है! मनपा के अनुसार, शहर को स्टेम प्राधिकरण और एमआईडीसी द्वारा जलापूर्ति की जाती है। ठाणे के घोड़बंदर रोड पर पातलीपाड़ा के पास मेट्रो का काम चल रहा है, जहां एमआईडीसी की १,५९० व्यास की मुख्य पाइप लाइन में अचानक रिसाव आ गया, जिसकी मरम्मत के लिए पानी बंद कर दिया गया। मनपा ने कारण बता कर अपना पल्ला झाड़ लिया लेकिन शहर के लोग क्या करें, ऐसा प्रश्न उठाया जा रहा है। जबकि ऐसी समस्या से हर महीने ६ से ८ दिन रहिवासियों को रू-ब-रू होना पड़ता है। यहां दो विधायक हैं, जो विकास के नाम पर राजनीति कर रहे हैं लेकिन मूलभूत सुविधाओं के प्रति वे भी उदासीन हैं।

अन्य समाचार