मुख्यपृष्ठनए समाचारभावुक हुईं यशोधरा... बोलीं, बाय-बाय शिवपुरी!

भावुक हुईं यशोधरा… बोलीं, बाय-बाय शिवपुरी!

सामना संवाददाता / भोपाल

मध्य प्रदेश की राजनीति में सिंधिया परिवार अहम रोल निभाता है। ये परिवार राज्य में भाजपा रीढ़ माना जाता है। हालांकि, कुछ वर्षों से भाजपा आलाकमान की अनदेखी के कारण सिंधिया परिवार का भाजपा से मोहभंग हो रहा है। इसका नया उदाहरण मध्य प्रदेश की खेलमंत्री यशोधरा राजे सिंधिया हैं। उन्होंने अचानक अगला विधानसभा चुनाव न लड़ने की घोषणा करके राजनीति में सनसनी मचा दी और भाजपा को भी चौंका दिया है। यशोधरा ने शिवपुरी जाकर बाय-बाय बोल दिया है। बता दें कि शिवपुरी में राजमाता विजयाराजे सिंधिया की प्रतिमा अनावरण समारोह के दौरान उन्होंने मंच से यह घोषणा की। इस दौरान यशोधरा राजे सिंधिया भावुक हो गई थीं।
उल्लेखनीय है कि भाजपा में यशोधरा की जगह ज्योरादित्य सिंधिया को भारी तवज्जो मिलने लगी और तभी से यशोधरा अपने को अलग-अलग महसूस करने लगीं। वे किसी न किसी बहाने से अपनी नाराजगी और अपने तेवर लगातार २ वर्ष से दिखाती चली आ रही है।
अब उन्होंने एकदम विधानसभा चुनाव न लड़ने की घोषणा करके न केवल सनसनी फैला दी, बल्कि बीजेपी के नेताओं को भी चौंका दिया। भाजपा के लिए चिंता की बात है कि जो राजमाता की राजनीतिक विरासत है, उसे कैसे भाजपा के साथ संभाल के रखा जाए, क्योंकि वे लोग माधवराव सिंधिया के नेतृत्व में भी काम नहीं कर सके। ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ भी नहीं रहे, क्योंकि राजमाता सिंधिया के प्रति उनकी आस्था है, जिसे यशोधरा राजे सिंधिया के साथ जाकर भाजपा का समर्थन कर रहे थे। अब उनका क्या होगा और वह क्या करेंगे, यह चिंता भारतीय जनता पार्टी को निश्चित तौर पर करनी होगी।

अन्य समाचार