मुख्यपृष्ठनए समाचारउद्धव ठाकरे के सामने आपने मातोश्री पर रगड़ी थी नाक! ... संजय राऊत...

उद्धव ठाकरे के सामने आपने मातोश्री पर रगड़ी थी नाक! … संजय राऊत का अमित शाह पर तीखा तंज

 जनता तय करेगी असली-नकली कौन
सामना संवाददाता / मुंबई
अमित शाह ने जो बयान दिया वही बयान प्रधानमंत्री मोदी ने भी चंद्रपुर की सभा में दिया, असली और नकली कौन है? ये अमित शाह तय नहीं कर सकते। क्योंकि आपके हाथ में पैसा और ताकत है इसलिए अगर आप चुनाव आयोग के साथ ही महाराष्ट्र विधानसभा अध्यक्ष का हाथ पकड़कर किसी पार्टी के सच्चे या झूठे होने का फैसला करने जा रहे हैं, तो लोग इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे। आप कई बार मातोश्री में उन लोगों से मिलने और उनके सामने नाक रगड़ी थी,  जो इस नकली शिवसेना के नेता हैं। यही उद्धव ठाकरे हैं, यही शिवसेना है और यही मातोश्री है। क्या आप स्वयं वहां गए थे? क्या आप यह कहने आए थे कि साल २०१९ के लोकसभा चुनाव में हमारा समर्थन करें? तब यही शिवसेना थी। अब आप असली इन नकली मालाओं को अपने गले में लटका कर घूम रहे हैं और इन्हें आप कह रहे हैं, ये मालाएं आपका खात्मा किए बिना नहीं रहेंगी। इस तरह का जोरदार हमला शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे नेता व सांसद संजय राऊत ने किया।
राष्ट्रवादी कांग्रेस और शिवसेना के नकली पार्टी होने का तंज केंद्रीय गृहमंत्री व भाजपा नेता अमित शाह ने नांदेड की सभा में कसा था। इस तंज पर जवाबी प्रहार करते हुए शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता व सांसद संजय राऊत ने अमित शाह और मोदी की जमकर खबर ली। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे के नेतृत्ववाली शिवसेना और शरद पवार के नेतृत्व वाली राष्ट्रवादी कांग्रेस ही असली पार्टी है। उन्होंने चेतावनी देते कहा कि अमित शाह ने जो डुप्लीकेट दल का गठित करके अजीत पवार और शिंदे को दिए हैं, उनका फैसला इस चुनाव में जनता किए बिना नहीं रहेगी।
भारत की संसद और लोकतंत्र के सूत्रधार को तय करेंगे यहां के लोग
शिंदे गुट के सांसद गजानन कीर्तिकर ने बयान दिया है कि संसद को कब्जे में लो, लेकिन मित्र दलों का सम्मान रखो। उस पर संजय राऊत मोदी-शाह पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि मोदी संसद को कब्जे में नहीं ले सकेंगे। यह रूस नहीं है। यहां पुतिन नहीं चलेंगे। भारत की संसद और लोकतंत्र के सूत्रधार कौन होंगे ये यहां के लोग और मतदाता तय करेंगे। मोदी-शाह नहीं तय करेंगे। चुनाव के जरिए, मतपेटी के माध्यम से इसे तय किया जाएगा। नरेंद्र मोदी को वास्तव में अनुचित मार्ग से संसद को कब्जे में लेना है। लेकिन इस देश की जनता उनके मंसूबों को सफल नहीं होने देगी। इस तरह की चेतावनी भी उन्होंने दी।
शिंदे गुट के होते हुए भी कमल पर लड़ना चाहते हैं चुनाव
पालघर लोकसभा क्षेत्र में शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) की उम्मीदवार भारती कामडी ने जोर-शोर से प्रचार शुरू कर दिया है। लेकिन सामने वाला उम्मीदवार कौन है? इसको लेकर संशय है। शिवसेना छोड़कर जो लोग वहां गए हैं, वे शिंदे गुट के होते हुए भी कमल पर चुनाव लड़ना चाहते हैं। ठाणे में अभी तक महायुति के उम्मीदवार की घोषणा नहीं की गई है। कल्याण में अराजकता की तस्वीर है। ऐसी तस्वीर है कि भाजपा अपने ज्यादातर उम्मीदवारों की घोषणा दिल्ली से करेगी। सांसद संजय राऊत ने शिंदे गुट पर जोरदार तंज कसते हुए कहा कि अब उनके हाथ में कुछ नहीं बचा है।

अन्य समाचार