मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासवाल हमारे: जवाब आपके!

सवाल हमारे: जवाब आपके!

बीते दिनों दुमका व दिल्ली में एक हिंदू नाबालिग लड़की को दो सिरफिरों ने सरेआम गोली मारीr। लव-जिहाद और जिहादी इश्क सबसे ज्यादा चिंता का सबक बनता जा रहा है। देश में हिंदुत्व का दंभ भरनेवाली मोदी सरकार के शासनकाल में बेटियां असुरक्षित हो गई हैं।

  • मोदी सरकार की नफरत की राजनीति
    केंद्र की मोदी सरकार द्वारा नफरत की राजनीति किए जाने के कारण ही इस तरह की घटनाओं में वृद्धि हुई है। भड़काऊ बयानबाजी का जवाब भड़काऊ भाषणों से दिए जाने के कारण दो समुदायों में दरार और घृणा बढ़ती जा रही है, जिससे दुमका और दिल्ली जैसी वारदातें घटित हो रही हैं।
    -मनोज कुमार, विरार
  • ऐसी घटनाएं चिंताजनक हैं
    धर्म और नाम छिपाकर लड़कियों से पहले दोस्ती करना और उसके बाद अपने झूठे प्रेमजाल में फंसाकर उनका शोषण करने की घटनाओं का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है। लगातार हो रही घटनाएं सब कुछ सही होने के सरकारी दावों की धज्जियां उड़ा रही हैं। तमाम सारे कानून पारित होने के बावजूद लगातार बढ़ रही घटनाएं निंदनीय और चिंताजनक हैं।
    -बृज लाल तिवारी, गोंडा, उ.प्र.
  • हिंदुओं को घुटने पर लाने की साजिश
    हिंदुस्थान में हिंदुओं को घुटनों पर लाने के लिए साजिश रची जा रही है, जिसमें से लव जिहाद पहले पायदान पर है। ऐसे में मामलों का निपटारा फास्ट कोर्ट बनाकर किया जाना चाहिए और साथ ही साथ लव जिहाद के ऊपर सख्त कानून लागू करना चाहिए। जिससे लव जिहाद चलानेवाली संस्था एवं लव जिहाद करने वाले गैंग खौफ खाएं और बढ़ते आपराधिक मामले कम हों।
    -महेश गुप्ता जौनपुरी, जोगेश्वरी
  • मोदी सरकार की मौन सहमति
    लव जिहाद और जिहादी इश्क की देश में बाढ़ सी आ गई है। मोदी सरकार और इनकी राज्य सरकारों की इस पर चुप्पी और मौन धारण करना मोदी सरकार की मौन सहमति की स्वीकृति है। जिससे हिंदुओं में दहशत पैदा करके हिंदुओं से वोट-नोट सपोर्ट प्राप्त करके पुन: मोदी सरकार बना सकें और अपने एजेंडे हिंदुस्थान को मुस्लिम राष्ट्र बनाने की इनकी बहुत बड़ी साजिश का ये हिस्सा है।
    -सुभाष मलहोत्रा उपाख्य (क्षत्रिय), पंजाब
  • बच्चों को दें अच्छे संस्कार
    लव जिहाद से केवल हम नफरत को बढ़ावा दे रहे हैं, नि:संदेह भविष्य में हर धर्म के लोगों को इसका परिणाम देखने को मिलेगा। जिहाद का सही अर्थ जानें। अपने बच्चों को अच्छे संस्कार और अपने ही धर्म में लिखी अच्छी बातों को सिखाएं क्योंकि हिंदुस्थान जैसा कोई देश नहीं।
    -जेबा अख्तर, सुल्तानपुर (यूपी)
  • भाजपा का ‘बेटी बचाओ अभियान’ खोखला
    इस तरह किसी भी लड़की को अगर कोई लड़का परेशान करता है तो तुरंत अपने परिवार को बताना चाहिए एवं नजदीक के पुलिस विभाग में संपर्क करना चाहिए। केंद्र सरकार विधायक खरीदने में मस्त है और देश की बेटियां मनचलों से त्रस्त हैं भाजपा का ‘बेटी बचाओ अभियान’ खोखला है।
    -परमानंद वर्मा
  • केंद्र सरकार अपना उल्लू सीधा कर रही है
    लव जिहाद नहीं यह कानून की कमजोरी है, हम एक धर्म को बढ़ावा देने के लिए दूसरे धर्म के लोगों के प्रति हिंसा और नफरत का रास्ता अपना रहे हैं। कानून-व्यवस्था को दुरुस्त करने की बजाय हम अंध विश्वास और समाज में कटुता का निर्माण कर रहे हैं, जिसका परिणाम दिख रहा है। हिंदुत्व का दंभ भरनेवाली सरकार सिर्फ अपना उल्लू सीधा कर रही है।
    -अनिल कुमार चौरसिया, प्रभादेवी
  • मोदी सरकार की नीतियों में खोट
    मोदी सरकार के हिंदुत्व की नीतियों तथा नीयत दोनों में खोट है। देश के विभिन्न भागों में हिंदुओं के विरुद्ध बड़ी साजिश रची जा रही है। मोदी सरकार मौन है। बांग्लादेशियों की वजह से कई राज्यों के अनेक जिलों में हिंदुओं की संख्या कम हो गई है। रिपोर्ट मोदी सरकार के पास पड़ी धूल खा रही है। देश में बड़े पैमाने पर लव जिहाद चलाया जा रहा है। बहन-बेटियां सुरक्षित नहीं हैं।
    -पं. गणपति प्रसाद पांडेय, दिवा
  • हिंदू भाजपा के लिए वोटबैंक है
    शिवसेना के अलावा हिंदुस्थान में कोई भी दल हिंदुत्व की चिंता करनेवाला नहींं है। भाजपा सरकार हिंदू को केवल एक वोटबैंक के रूप में देखती है। आज हिंदुओं पर होनेवाला अत्याचार इस तथ्य को प्रमाणित करता है।
    हर्षित पांडेय, पडरौना (उ.प्र.)
  • कड़े कदम उठाने की जरूरत
    लव जिहाद और जिहादी इश्क एक तरह से हिंदुओं के धर्म परिवर्तन का जरिया बन गया है। केंद्र सरकार को कड़े कदम उठाकर ऐसे मामलों को रोकना चाहिए।
    -लाला गुप्ता, कल्याण
  • कानून में हो कड़े कानून का प्रावधान
    हिंदुत्व का नाम लेकर केंद्र में बैठी मोदी सरकार को इस तरह की घटनाओं को रोकने के उपाय करने ही होंगे और लव जिहाद जैसे मामलों में कड़ी सजा का प्रावधान करना होगा।
    -प्रमोद सिंह, डोंबिवली
  • केंद्र की जितनी भी निंदा की जाए कम है
    ‘बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ’ का नारा देनेवाली मोदी सरकार को बेटियों के साथ हो रहा अत्याचार शायद दिख नहीं रहा है। केंद्र की जितनी भी निंदा की जाए कम ही है।
    -राजेंद्र ओझा, अंबरनाथ
  • अमन पसंद फिजा पर कुठाराघात
    लव जिहाद जैसी कुत्सित विकृति देश की अमन पसंद फिजा पर कुठाराघात कर रही है। बेटियों की सुरक्षा प्रशासन का सर्वप्रमुख दायित्व है चाहे वो किसी भी धर्म या संप्रदाय से संबंधित हो। मोदी सरकार को इस संदर्भ में कठोर कानून बनाने होंगे और उनके जैसे दूरदर्शी व्यक्तित्व के लिए यह असंभव भी नहीं।
    -डॉ. वासिफ काजी, इंदौर
  • आज का सवाल?
    नागरिकता संशोधन कानून को लेकर केंद्र सरकार चारों तरफ बखान करती फिर रही है। वहीं देश की आबादी में बांग्लादेशियों की घुसपैठ बढ़ती जा रही है, बांग्लादेशियों ने देश की ‘डेमोग्राफी’ ही बदल दी है। झारखंड के ५ जिले बांग्लादेशी बहुसंख्यक हो गए हैं। क्या केंद्र सरकार बांग्लादेशी घुसपैठियों के मुद्दे पर गंभीरता से काम करती दिख रही है?
    आप क्या सोचते हैं? तुरंत लिखकर भेजें या मोबाइल नं. ९३२४१७६७६९ पर व्हॉट्सऐप करें।

अन्य समाचार