मुख्यपृष्ठसमाचारविज्ञान, तकनीक, शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में कार्य करें युवा -...

विज्ञान, तकनीक, शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में कार्य करें युवा – मनोजकांत

– केएनआईटी में युवा संगोष्ठी

विक्रम सिंह / सुल्तानपुर

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्वी प्रांत प्रचार प्रमुख व ‘राष्ट्रधर्म’ पत्रिका के निदेशक मनोजकांत ने कहा कि युवा शक्ति की सकारात्मक ऊर्जा का संतुलित उपयोग करना होगा। वायु के समान होता है युवा। जब वायु पुरवाई के रूप में धीरे-धीरे चलती है तो सबको अच्छी लगती है। सबको बर्बाद कर देने वाली आंधी किसी को भी अच्छी नहीं लगती है। हमें इस पुरवाई का उपयोग विज्ञान, तकनीक, शिक्षा और अनुसंधान के क्षेत्र में करना होगा।
वे गुरुवार की देर शाम स्वामी विवेकानंद जयंती की पूर्व संध्या पर संघ जिला प्रचारक आशीष जी के मार्गदर्शन में कमला नेहरू प्रौद्योगिकी संस्थान के सीएसए हाल में आरएसएस की मार्गदर्शन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नगर कुशभवनपुर के महाविद्यालयी विद्यार्थी कार्य विभाग द्वारा आयोजित युवा संगोष्ठी को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यदि हम इस युवा शक्ति का सकारात्मक उपयोग करेंगे तो विश्व गुरु ही नहीं, अपितु विश्व का निर्माण करने वाले विश्वकर्मा के रूप में भी जाने जाएंगे। स्वामी विवेकानंद के जीवन की अनेक घटनाओं पर प्रकाश डालते हुए कांत ने कहा कि युवाओं को स्वामी जी के जीवन से प्रेरणा प्राप्त करते हुए राष्ट्रनिर्माण में सहयोग करना चाहिए। वे भलीभांति जानते थे कि हमारे शक्तिमान, बुद्धिमान, पवित्र और नि:स्वार्थ युवा ही भारत के खोए हुए आत्मसम्मान और आत्म गौरव को पुनर्स्थापित कर सकते हैं। युवा ही भारत और संपूर्ण संसार का उत्थान कर सकते हैं। इसीलिए उन्होंने अपने उपदेशों और प्रेरणादायी उद्बोधनों में राष्ट्र की तरुणाई को, युवा पीढ़ी को प्रेरित और प्रोत्साहित करते हुए कहा कि हम सभी लोगों को इस समय कठिन परिश्रम करना होगा। अब सोने का समय नहीं है। हमारे कार्यों पर भारत का भविष्य निर्भर है। भारत माता तत्परता से प्रतीक्षा कर रही है। वह केवल सो रही है, उसे जगाइए और पहले की अपेक्षा और भी गौरव मंडित और शक्तिशाली बनाकर भक्ति भाव से उसके चिरंतन सिंहासन पर प्रतिष्ठित कर दीजिए।
कार्यक्रम की अध्यक्षता कमला नेहरू प्रौद्योगिकी संस्थान के निदेशक डॉ. आरके उपाध्याय ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद विभाग संघचालक डॉ. अरुण कुमार सिंह ने सभी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए स्वामी विवेकानंद के जीवन से प्रेरणा लेते हुए आगे बढ़ने की बात कही। कार्यक्रम संचालन किया महाविद्यालय विद्यार्थी कार्य प्रमुख अतुल कृष्ण सिंह ने। कार्यक्रम में अखिलेश, धर्मेंद्र, सोमेंद्र, विपिन आदि प्रमुख लोग उपस्थित रहे।

अन्य समाचार