मुख्यपृष्ठखेलक्लीन बोल्ड : आया सूर्या

क्लीन बोल्ड : आया सूर्या

मिताभ श्रीवास्तव

तो अब मैदान पर उतरने की तैयारी लगभग हो चुकी है। चोट के बाद उपचार करा रहे सूर्यकुमार यादव ने फिर से बल्ला थाम लिया है। तभी तो पिछले दिनों जब उन्हें मैदान पर देखा गया तो लोगों की आवाज गूंज पड़ी आया सूर्या! जी हां, सूर्य कुमार यादव एक बार फिर सुर्खियों में हैं। हर जगह उनकी चर्चा हो रही है। यह हर कोई जानता है कि सूर्या टखने की सर्जरी के चलते काफी समय से क्रिकेट मैदान से दूर चल रहे हैं, लेकिन सफल सर्जरी के बाद वह रिकवर कर रहे हैं। उन्हें जिम में जमकर पसीना बहाते हुए देखा जा रहा है तो वहीं हाल ही में सूर्या ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक स्टोरी शेयर की, जिसमें वह सर्जरी के बाद पहली बार हाथ में बल्ला पकड़े नजर आ रहे हैं। उन्होंने अपनी स्टोरी में नेट्स में अभ्यास करते हुए कुछ सेकंड की वीडियो शेयर की, जिसके बाद पैंâस की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। वैसे आईपीएल से पहले हर कोई चाहता है कि वो फिट हो जाएं। अब देखना दिलचस्प होगा कि सूर्या आईपीएल खेल सकेंगे या नहीं?

इस्माइल प्लीज!
स्माइल नहीं यह इस्माइल है और प्लीज इसलिए कि इतनी तेज गेंद मत फेंको। महिला क्रिकेट में पहली ऐसी गेंदबाज बन गई हैं वो जिसने सबसे तेज गेंद फेंक कर रिकॉर्ड बना लिया। जी हां, दक्षिण अप्रâीका की तेज गेंदबाज शबनीम इस्माइल ने महिला क्रिकेट में अब तक की सबसे तेज गेंद फेंककर नया इतिहास रचा। गेंद की रफ्तार नापने वाली मशीन ‘स्पीड गन’ के आने के बाद यह पहला अवसर है, जबकि महिला क्रिकेट में किसी गेंदबाज ने १३० किमी से अधिक की रफ्तार से गेंद फेंकी। महिला प्रीमियर लीग (डब्ल्यूपीएल) में मुंबई इंडियंस की तरफ से खेलते हुए इस्माइल ने यहां दिल्ली वैâपिटल्स के खिलाफ मैच के दौरान १३२.१ किमी (८०.०८ मील) प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंक करके नया रिकॉर्ड बनाया। महिला क्रिकेट की यह सबसे तेज गेंद ऑस्ट्रेलिया की पूर्व कप्तान मेग लैनिंग के पैड से टकराई। यह मैच के तीसरे ओवर की दूसरी गेंद थी और इस्माइल ने कारनामा कर दिखाया।

एक टीम, एक हजार करोड़ कमाई
विश्व फुटबॉल में जो कमाई होती है वो शायद ही किसी खेल की किसी टीम की होती होगी। करोड़ों में पुरस्कार राशि और जबरदस्त आमदनी। पुरुष खिलाड़ियों की तो पांचों उंगलियां घी में होती हैं, मगर अब महिलाओं की कमाई में भी यही हालत है। देखिए न, बार्सिलोना महिला फुटबॉल टीम की कमाई २०२२-२३ वित्तीय वर्ष में १,२०५ करोड़ रुपए रही है। इसके साथ ही बार्सिलोना रेवेन्यू के मामले में टॉप पर है। पिछले कुछ सालों में यूरोप में महिला फुटबॉल की लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ी है। इसी का नतीजा है कि अब महिला फुटबॉल क्लबों का रेवेन्यू भी काफी तेजी से बढ़ा है। एक रिपोर्ट के अनुसार साल २०२२-२३ वित्तीय वर्ष में यूरोप की शीर्ष १५ महिला फुटबॉल क्लबों को रेवेन्यू में फायदा हुआ है। हालांकि, इस सूची में बार्सिलोना की टीम सबसे आगे रही, जिसने सर्वाधिक १,२०५ करोड़ रुपए का रेवेन्यू कमाया।

अन्य समाचार

अब तक