रोखठोक

रोखठोक : महाराष्ट्र में नए बाजीराव!

संजय राऊत-कार्यकारी संपादक कामाख्या देवी की यात्रा से मुख्यमंत्री और उनके गुट के विधायक वापस लौट आए हैं। पशुओं की बलि देकर मनौती पूरी करने...

रोखठोक : महाराष्ट्र को नामर्द बनाने की साजिश …राजियों की जीवनी!

संजय राऊत - कार्यकारी संपादक वीर सावरकर के अपमान के मामले में भाजपा ने जो जोश और जोर दिखाया वह छत्रपति शिवाजी महाराज के अपमान...

रोखठोक : अंडमान का मुश्किल मार्ग! … वीर सावरकर के ढोंगी भक्त!!

संजय राऊत वीर सावरकर की बेवजह आलोचना करके राहुल गांधी ने बवाल मोल ले लिया। ‘भारत जोड़ो’ यात्रा का वह एजेंडा नहीं था। भारतीय जनता...

रोखठोक: दिल्ली का पानी कैसा है?

संजय राउत दिल्ली का पानी उतना अच्छा नहीं, ऐसा नितीन गडकरी ने कहा वो सही ही है। आज पाकिस्तान, चीन दिल्ली के शत्रु नहीं...

रोखठोक: एक्ट ऑफ गॉड!

कड़कनाथ मुंबैकर ‘मोरबी में झूला ब्रिज दुर्घटना में करीब १४० लोगों की जान गई। यह गैर इरादतन हत्या है; लेकिन इस पुल की मरम्मत के...

रोखठोक : दान-धर्म की उल्टी गंगा!

कड़कनाथ मुंबैकर ‘देश में सर्वाधिक अमीर और दानवीर व्यक्तियों की सूची प्रकाशित हुई। इसमें नया क्या है? वही अमीर वही उद्योगपति। दानवीर लोगों की सूचियां...

रोखठोक : किसानों ने गांव बेचने को निकाला! …हमारे राज्यपाल कहां हैं?

कड़कनाथ मुंबैकर `महाराष्ट्र के किसान फसल और पानी के साथ महाप्रलय में बह गए। पुलिस के तबादलों पर मुख्यमंत्री शिंदे नाराज हैं। उपमुख्यमंत्री श्री फडणवीस...

रोखठोक : शिंदे गुट की कॉन्ट्रैक्ट किलिंग! … फिर भी शिवसेना ही रहेगी!!

कड़कनाथ मुंबैकर मुख्यमंत्री शिंदे और उनके गुट का इस्तेमाल शिवसेना के विरोध में `कॉन्ट्रैक्ट किलर' की तरह हो रहा है। `शिंदे' नाम का इतिहास महाराष्ट्र...

रोखठोक : दुश्मन ताली बजा रहा है!

कड़कनाथ मुंबैकर मुंबई में दशहरे की दो रैलियां आयोजित की गईं। वह भी शिवसेना के नाम पर। इस फूट का नजारा हैरान करने वाला है।...

रोखठोक : हर कोई आनंद दिघे नहीं होता है! …कुछ शिंदे होते हैं!

कड़कनाथ मुंबैकर शिवसेना के दशहरा सम्मेलन को लेकर उपहास चल रहा है। शिवतीर्थ पर होनेवाला सम्मेलन ही असली है, ये पूरा देश जानता है। लेकिन...

रोखठोक : हर एक का अलग ‘स्वर्ग’! … हिटलर, स्टालिन, पुतिन और हम सभी

कड़कनाथ मुंबैकर समरकंद में प्रधानमंत्री मोदी और पुतिन की मुलाकात हुई। दोनों ने गर्मजोशी से हाथ मिलाया। उस समय रूस में अखबारों का दमन चल...

रोखठोक : कानून का राज चाहिए या धर्मराज्य?

कड़कनाथ मुंबैकर आज कानून का राज निश्चित तौर पर कहां है? धर्म का ही राज चाहिए ऐसी भांग का नशा आज बहुतांश लोगों पर चढ़ा...

रोखठोक : अमित भाई, आप बोलते रहो! मराठा अवश्य उठेगा!

कड़कनाथ मुंबैकर ‘शिवसेना को गाड़ने की और उद्धव ठाकरे को सबक सिखाने की बात केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कही। अब मुंबई पर कब्जा...

रोखठोक : महाराष्ट्र की ये ऐसी मनौती, फरेबियों का व्यावसायिक हिंदुत्व खत्म करो!

कड़कनाथ मुंबैकर श्री गणेश का सार्वजनिक उत्सव महाराष्ट्र की परंपरा है। तिलक ने गणपति को ‘राष्ट्रीय' नेतृत्व दिया। उस समय स्वाधीनता की शपथ ली...

रोखठोक : न्याय का घंटा, चोरी हो गया!

कड़कनाथ मुंबैकर बिलकिस बानो का मामला फिलहाल चर्चा में है। गोधरा कांड के दौरान उसके साथ बलात्कार किया गया। उसकी मां और तीन साल की...

अन्य समाचार

पंचांग