मुख्यपृष्ठसमाचारगावित तो गए...!

गावित तो गए…!

-पालघर सीट पर भाजपा ने ठोका दावा

-बीजेपी-शिंदे गुट में उम्मीदवारी को लेकर रार

योगेंद्र सिंह ठाकुर / पालघर

महाराष्ट्र राज्य की सत्ता पर काबिज महायुति गठबंधन के नेताओं के बीच लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे का विवाद बढ़ता ही जा रहा है। अब भाजपा और शिंदे गुट के बीच पालघर लोकसभा क्षेत्र को लेकर विवाद बढ़ गया है। भाजपा पालघर से शिवसेना शिंदे गुट के सांसद राजेंद्र गावित के विरोध में पूरी तरह से उतर गई है जिससे शिंदे के सांसद की सीट खतरे में आ गई है? भाजपा नेताओं ने पालघर लोकसभा सीट पर ये कहकर दावा ठोका है कि अगर शिवसेना शिंदे गुट के सांसद राजेंद्र गावित को महायुति उम्मीदवार के रूप में यहां से चुनावी मैदान में उतारा गया तो पराजय तय है। भाजपा नेताओं ने मांग की है कि इस बार राजेंद्र गावित को महायुति के उम्मीदवार के रूप में उम्मीदवार न बनाया जाए। भाजपा नेताओं का दावा है कि उनकी पार्टी को ३५ से ४० प्रतिशत मत मिलते है और शिंदे गुट को ८ से १० प्रतिशत ही मत मिलते हैं। ऐसे में इस सीट पर भाजपा का मजबूत दावा बनता है।
बीजेपी-शिंदे गुट के नेताओं में छिड़ी जंग
दरअसल, भाजपा के जिला अध्यक्ष भरत राजपूत ने कहा कि भाजपा के सभी पदाधिकारी और कार्यकर्ता राजेंद्र गावित को महायुति से टिकट दिए जाने का विरोध कर रहे हैं। लोगों की मांग है कि जिले को आगे ले जाने वाला सक्षम नेतृत्व चाहिए। भरत राजपूत ने कहा कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व से मांग की गई है कि महायुति से भाजपा का ही उम्मीदवार पालघर लोकसभा सीट से मैदान में उतारा जाए। वहीं शिवसेना शिंदे गुट के जिला प्रमुख कुंदन संखे ने कहा कि पालघर लोकसभा सीट पर उम्मीदवार दोनों पार्टियों का शीर्ष नेतृत्व सहमति से ही तय करेगा।
आपस में भिड़े भायंदर के भाजपाई…भाजपा का अंतर्कलह आया सामने
मीरा-भायंदर में शिंदे गुट की शिवसेना और भाजपा की लड़ाई अभी थमी नहीं, भाजपाई आपस में भिड़े पड़े हैं। नरेंद्र मेहता और रवि व्यास गुट के बीच व्याप्त अंतर्कलह खुलकर सामने आ गया, जहां उनके समर्थक एक दूसरे से लड़ते देखे गए और जमकर हंगामा और धक्का-मुक्की हुई। भाजपा जिलाध्यक्ष किशोर शर्मा की अगुवाई में दोनों गुटों के नेता व कार्यकारिणी की बैठक गोल्डन नेस्ट स्थित ब्लू-मून क्लब में बुलाई गई थी। इसमें बूथ के अनुसार ‘सुपर वारियर’ की नियुक्ति की गई है जिन्हें नियुक्ति पत्र दिया जाना था। इस बीच कार्यक्रम के संचालन को लेकर दोनों गुट आपस में भिड़ गए और हाथापाई, धक्का-मुक्की शुरू हो गई। एक प्रत्यक्षदर्शी भाजपाई ने बताया कि जिलाध्यक्ष किशोर शर्मा से व्यास गुट काफी नाराज है क्योंकि शर्मा मेहता समर्थक बताए जाते हैं। इसी खुन्नस में मचे बवाल के दौरान कुछ लोग शर्मा के गिरेबान तक पहुंच गए और धक्का दे दिया। चौंकाने वाली बात यह है कि उस समय वहां मीरा-भायंदर भाजपा प्रभारी जय प्रकाश ठाकुर उपस्थित थे, जिन्हें बीच बचाव करते देखा गया।

अन्य समाचार

अब तक