मुख्यपृष्ठसमाचारयूपी भी गजब बा... मरीज मांगे दवाई, डॉक्टर करें पिटाई

यूपी भी गजब बा… मरीज मांगे दवाई, डॉक्टर करें पिटाई

-वायरल वीडियो देख डीएम ने दिया जांच का आदेश!

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ

सर्वाधिक छापामारी होने के बाद भी उत्तर प्रदेश का स्वास्थ्य महकमा पटरी पर आने के बजाय डिरेल होता जा है। इस बार मरीज को डॉक्टर द्वारा दवाई की तकरार पर पिटाई से यह सुर्खी मिल रही है। महोबा जिला अस्पताल का एक वीडियो जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें अस्पताल के एक कर्मचारी का बेटा आकाश डॉक्टर के चैंबर में कुर्सी पर बैठकर कुछ बात करता है। बाद में एका-एक डॉक्टर कुर्सी से उठा और युवक पर हमला बोलते हुए कुर्सी से पटक दिया और बाद में लात घूसों से पिटाई करते हुए हाथ पकड़कर घसीटते हुए चैंबर के बाहर निकाल दिया।
`दोपहर का सामना’ वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं कर रहा है। वायरल वीडियो के बाद पीड़ित ने जिलाधिकारी से शिकायत दर्ज कराई। डीएम मृदुल चौधरी ने जांच कमेटी गठित करने के निर्देश दिए हैं। सीएमएस डॉ. पवन अग्रवाल का कहना है कि डॉक्टर के द्वारा मारपीट करने की शिकायत पर जिलाधिकारी के निर्देश पर जांच समिति गठित की गई है। सीएमओ और उन्हें जांच कर रिपोर्ट तैयार करनी है। बताया कि मारपीट करने वाले डॉक्टर से बयान दर्ज किए जाने हैं। वीडियो टेली मेडिसिन डॉ. आरपी सिंह का बताया जा रहा है।
मामला सुर्खियां बनने के बाद डॉक्टर ने कर्मचारी के पुत्र पर पैसा की मांग करने सहित अभद्रता करने का आरोप लगाते हुए कोतवाली पुलिस को तहरीर देते हुए जांच करा कार्रवाई की मांग उठाई है। वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल के कारनामें एक बार फिर सुर्खियों में है। अस्पताल के गतिविधियों को लेकर सक्रिय सूत्रों का कहना है कि जिला अस्पताल में आकाश नाम का एक युवक जनरल फिजिशियन डॉ. आरपी सिंह के चैंबर में इलाज कराने पहुंचा था। पीड़ित ने बताया कि डॉक्टर ने अस्पताल के बाहर की दवाएं लिखी थीं, जो बहुत महंगी थीं। इसका विरोध और अस्पताल की ही दवाएं लिखने की बात कहीं। आरोप है कि उसकी बात सुनकर डॉ. आरपी सिंह आगबबूला हो गए। उन्होंने पीटना शुरू कर दिया। उत्तर प्रदेश में कभी एम्बुलेंस न मिल पाने से मरीज को ठेले से अस्पताल पहुंचाने तो कभी अस्पताल के बाहर प्रसव हो जाने की खबर सुर्खियों में रहती है, लेकिन इस बार दवाई की बात पर पिटाई से इलाज देख हर कोई हैरान है।

अन्य समाचार

अब तक