मुख्यपृष्ठनए समाचारकश्मीर में चुनावी बिगुल बजते ही मैदान में उतरने लगे हैं राजनीतिक...

कश्मीर में चुनावी बिगुल बजते ही मैदान में उतरने लगे हैं राजनीतिक दल …विधानसभा चुनावों की घोषणा न होने से निराश हुए नेता

–सुरेश एस डुग्गर–
जम्मू, 19 मार्च। प्रदेश के सभी राजनीतिक दल विधानसभा चुनावों की घोषणा न होने से निराश तो जरूर हुए हैं पर वे अब लोकसभा चुनावों में अपना दमखम दिखाने को उतावले हैं। यही कारण था कि लोकसभा चुनावों का बिगुल बजते ही प्रदेश में राजनीतिक गतिविधियां तेजी पकड़ चुकी हैं और प्रदेश सियासी रंग में रंग गया है।

नेशनल कांफ्रेंस, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, पीपुल्स कांफ्रेंस, अपनी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी, सभी पार्टियां चुनाव प्रचार में जुट गई हैं। अपने कार्यकर्ताओं और जिला कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें आयोजित की जा रही हैं। हालांकि नेकां, पीडीपी, भाजपा और अपनी पार्टी सहित किसी ने अभी तक कश्मीर की तीन सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है, लेकिन उनके नेताओं ने जिलों और कस्बों में अभियान शुरू कर दिया है।

कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने कहा कि उनका नेतृत्व आने वाले दिनों में चुनाव प्रचार शुरू करेगा, हालांकि जिला स्तर के प्रमुख पहले से ही कार्यकर्ताओं से मिल रहे हैं। कश्मीर की तीन सीटों के लिए चुनाव 7 मई से होने हैं। तीसरे चरण में अनंतनाग-राजौरी में मतदान होगा, जबकि 13 मई को चरण 4 में श्रीनगर-पुलवामा संसदीय सीटों पर मतदान होगा। चरण 5 में बारामुल्ला और 20 मई को कुपवाड़ा सीट मतदान होगा। जम्मू संभाग की उधमपुर सीट पर पहले चरण में 9 अप्रैल को मतदान होगा और दूसरे चरण में जम्मू-सांबा सीट पर 26 अप्रैल को मतदान होगा।

नेशनल कांफ्रेंस के प्रवक्ता इमरान नबी डार कहते थे कि पार्टी उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने आज कुलगाम जिले के दमहाल हांजीपोरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव अभियान की शुरुआत की। उन्होंने कहा कि उम्मीदवारों के घोषणापत्र और घोषणाएं जल्द ही की जाएंगी। पीडीपी प्रवक्ता नजमु साकिब कहते थे कि पार्टी ने अनंतनाग शहर में नेताओं और कार्यकर्ताओं की जिला स्तरीय बैठक की। पार्टी आने वाले सप्ताह में उम्मीदवारों और घोषणापत्रों की घोषणा करेगी।

 

अन्य समाचार

अब तक