मुख्यपृष्ठनए समाचारभाजपा की जबरदस्ती ... प्रचार सभा में बैठोगे, तो वापस मिलेगी आईडी

भाजपा की जबरदस्ती … प्रचार सभा में बैठोगे, तो वापस मिलेगी आईडी

पढ़ाई रोककर छात्रों को चुनाव प्रचार में लगाया
कांदिवली के ठाकुर कॉलेज का मामला
सामना संवाददाता / मुंबई
भाजपा सरकार पर तानाशाही का आरोप तो लगता ही रहा है, लेकिन भाजपा ने अब तानाशाही की हदें पार कर दी हैं, भाजपा छात्रों को जबरन राजनीति में घसीट रही है। छात्रों के भविष्य बनाने के बजाय उन्हें गंदी राजनीति का हिस्सा बनाने में रुचि ले रही है, वह भी सख्ती के साथ, छात्रों को भाजपा प्रत्याशी की सभा में जबरन उपस्थित होने के लिए उनकी आईडी जप्त कर ली जा रही है। ऐसा मामला ग्रामीण नहीं, बल्कि मुंबई जैसे जागृत शहर में हो रहा है। कॉलेज के छात्रों को सख्ती से बताया जा रहा है कि सभा में प्रजेंट रहोगे, तो तुम्हारी आईडी (प्रवेश पत्र) तुम्हें लौटाई जाएगी, लेकिन मामला इससे भी ज्यादा गंभीर तब हो गया, जब सभा में उपस्थित होने के बावजूद छात्रों की आईडी नहीं लौटाई गई।
कांदिवली के ठाकुर कॉलेज का यह मामला है। यहां भाजपा के प्रत्याशी पीयूष गोयल के बेटे ध्रुव गोयल ने ठाकुर कॉलेज के छात्रों की आईडी जप्त कराई और उन्हें कॉलेज के सभागृह में आयोजित होनेवाली प्रचार सभा में शामिल होने के लिए जबरदस्ती की। इस मामले का वीडियो वायरल हो रहा है। शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्ष की युवासेना ने इस मामले को उजागर किया है। इस वीडियो को ट्वीट करते हुए भाजपा पर निशाना साधा है और कॉलेज प्रिंसिपल के निलंबन की मांग की है। शिवसेना की युवासेना ने आरोप लगाया है कि भाजपा प्रत्याशी पीयूष गोयल के बेटे ध्रुव गोयल ने यह सभा ली। छात्रों ने कहा है कि उनके पहचान पत्र जप्त कर लिए गए और उन्हें परीक्षा से एक दिन पहले बैठक में शामिल होने के लिए मजबूर किया गया। युवासेना ने सवाल उठाया है कि इस पार्टी के हाथों में देश का भविष्य वैâसे सुरक्षित रहेगा, जो छात्रों को प्रचार सभा में भाग लेने के लिए मजबूर कर रही है। छात्रों को जबरन राजनीति में खींचने का मामला नया नहीं है।

अन्य समाचार

अब तक