मुख्यपृष्ठनए समाचारयूपी में पहली बड़ी चुनावी कैश बरामदगी! ...बागपत में कार से मिले...

यूपी में पहली बड़ी चुनावी कैश बरामदगी! …बागपत में कार से मिले नकद डेढ़ करोड़ रुपए जप्त!

मनोज श्रीवास्तव / लखनऊ

लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने के बाद चेकिंग के दौरान पुलिस को पहली बड़ी सफलता मिली। बागपत में गाड़ियों की चेकिंग के दौरान एक कार से डेढ़ करोड़ कैश बरामद हुआ है। कार मालिक कैश के बारे में कागजात नहीं दिखा सका। ऐसे में आयकर विभाग की टीम को बुलाकर कैश उनके हवाले कर दिया गया। आयकर विभाग ने जांच शुरू कर दी है। चुनाव आयोग ने 49 हजार से ज्यादा कैश लेकर चलने पर उसके साथ कागजात भी लेकर चलने को कहा है। कैश का हिसाब रखना जरूरी किया गया है। आयोग ने इसके लिए बैंक की पर्ची या एटीएम रसीद आदि साथ होना जरूरी है। यह भी कहा है कि अगर कोई कागजात नहीं मिलता तो माना जाएगा कि कैश का इस्तेमाल चुनाव को प्रभावित करने के लिए किया जा सकता था। दस लाख से ज्यादा रुपए होने पर उसे ट्रेजरी में जमा करने का निर्देश भी आयोग ने दिया है।

बागपत के जिलाधिकारी जितेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि 16 मार्च को भारत निर्वाचन आयोग के आदर्श आचार संहिता लागू करने के बाद से जिले में अवांछित गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।
उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश-हरियाणा सीमा पर निवाड़ा पुलिस चौकी पर सोमवार देर रात पुलिस, आबकारी विभाग व एफएसटी ने जांच अभियान के दौरान शामली के निवासी अनिल कुमार की गाड़ी से डेढ़ करोड़ रुपए बरामद किए। जिलाधिकारी ने बताया कि अनिल के पास रुपए से संबंधी कोई दस्तावेज नहीं मिला। उन्होंने बताया कि गाड़ी से इतनी बड़ी धनराशि पकड़े जाने के बाद आयकर विभाग की टीम ने अनिल के बयान दर्ज किए। सिंह ने बताया कि आरोपी से पूछताछ की गई तो उसने बताया कि उसे यह धनराशि फैक्टरी की जमीन बेचने से मिली है, लेकिन वह कोई दस्तावेज नहीं दिखा पाया, अनिल के किसी दल से जुड़े होने की भी जांच की जा रही है। सिंह ने कहा कि अनिल कुमार खुद को दिल्ली में डेयरी संचालक बता रहा है। डीएम के अनुसार इस पूरे मामले की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई गई है।

अन्य समाचार

अब तक