मुख्यपृष्ठनमस्ते सामनासंपादक के नाम पत्र :  खड्डे की अनदेखी कर रही है मनपा

संपादक के नाम पत्र :  खड्डे की अनदेखी कर रही है मनपा

उल्हासनगर में एक तरफ मनपा आयुक्त अजीज शेख सड़क पर झाड़ू लगाकर साफ सफाई की अपील कर रहे हैं तो दूसरी तरफ सरकार ‘आपल्या दारी’ योजना से भी शहर को चमकाने का काम कर रही है। लेकिन इन सब के बीच उल्हासनगर के सफाई कर्मचारियों, निरीक्षक वर्ग को सड़क के गड्ढे क्यों नहीं दिखाई दे रहे हैं? गड्ढे वाली सड़कों पर साफ-सफाई वैâसे हो, यह कोई आयुक्त महोदय से पूछे। इन गड्ढे में गिरकर न जाने कितने लोग घायल हो चुके हैं, कुछेक की तो जान भी चली गई है लेकिन उल्हासनगर मनपा प्रशासन को इन सबसे कुछ भी लेना-देना नहीं है। उसे आम लोगों के जीवन के बारे में बिल्कुल भी चिंता नहीं हैं। इस लापरवाही के पीछे मनपा आयुक्त अजीज शेख की टीम नाकाम साबित हो रही है। यह लापरवाही ‘जैसा राजा वैसी प्रजा’ कहावत को सत्य साबित कर रही है। उल्हासनगर मनपा मुख्यालय, चोपड़ा कोर्ट से लेकर शहाड रेलवे स्टेशन तक कई जगहों पर सड़कें क्षतिग्रस्त हैं, मेनहोल के ढक्कन टूटे हैं। इतना ही नहीं बालकनजी बारी से सेंट्रल पुलिस मार्ग तक तो कई ढक्कन ही गायब हैं। देखा जाय तो उल्हासनगर से होकर गुजरनेवाला महामार्ग गड्ढों, धूल, मेनहोल के टूटे ढक्कनों से भरा पड़ा है। गटर के चेंबर में ढक्कन न होने के कारण राहगीरों के गिरकर घायल होने का खतरा हमेशा बना हुआ है। उल्हासनगर वैंâप नबर एक ढोलूराम दरबार के समीप बीच सड़क पर ही चैम्बर से ढक्कन गायब है। ढक्कन न होने की शिकायत कौन करे? आयुक्त अजीज शेख को चाहिए कि वे एक आदर्श आयुक्त की भूमिका निभाते हुए अपने एसी कक्ष से बाहर निकलकर शहर का निरीक्षण करें। वर्तमान में कोई नगरसेवक न होने से आयुक्त अजीज शेख प्रशासक के पद पर भी हैं। वे बाहर निकलकर शहर वासियों की समस्या को जानें।
 अखिलेश यादव, उल्हासनगर

अन्य समाचार

अब तक