मुख्यपृष्ठनए समाचारवोटिंग से ज्यादा जरूरी आउटिंग! ... मौजूदा राजनीति से उकताए ठाणेकर

वोटिंग से ज्यादा जरूरी आउटिंग! … मौजूदा राजनीति से उकताए ठाणेकर

 बाहर जाने का प्लान नहीं करेंगे कैंसिल

सामना संवाददाता / ठाणे
मतभेदों और दल-बदल की मौजूदा राजनीति से ठाणेकर परेशान हैं, वे उकता गए हैं। ठाणेकरों ने मई की छुट्टियों के दौरान शहर और राज्य से बाहर पर्यटन के लिए दो-तीन महीने पहले ही अपनी योजना बना ली है। लोकसभा चुनाव की तारीखों के एलान के बाद कई लोग टिकट बुकिंग वैंâसिल करने के मूड में नजर नहीं आ रहे हैं। उनके लिए वोटिंग से ज्यादा आउटिंग जरूरी है।
बता दें कि पर्यटक चुनाव की तारीखों का इंतजार कर रहे थे। अप्रैल में चुनाव होंगे और मई में जब बहुत गर्मी होगी, तब घूमने जाने की प्लानिंग ठाणेकरों ने की थी। चूंकि मतदान २० मई को होगा, इसलिए उम्मीद है कि स्कूल उसके बाद शुरू हो जाएंगे। जाहिर है कि जिन लोगों ने घूमने जाने का प्लान नहीं बनाया है, वे अब घूमने नहीं जा पा रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि पार्टी में फूट, दल-बदल, आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति शुरू हो गई है। ज्ञानेश केलकर ने कहा कि यदि वे वैचारिक निष्ठा के बिना स्वार्थ के लिए कार्य करते हैं तो हम मतदाता के रूप में अपनी यात्रा योजना रद्द क्यों करें और वित्तीय बोझ क्यों उठाएं। मिली जानकारी के अनुसार, पिछले साल की तुलना में इस साल उड़ानों की दरें काफी बढ़ गई हैं। नवंबर-दिसंबर से बढ़े दाम के बाद ३५ से ४० हजार रुपए न्यूनतम हवाई जहाज का किराया है। कश्मीर, लद्दाख, भूटान जानेवालों ने दो महीने पहले ही बुकिंग करा ली है। चुनाव होने के कारण बुकिंग रद्द नहीं किए गए, क्योंकि फ्लाइट टिकट, होटल रूम रेंट के काफी पैसे कट जाएंगे।

 पर्यटक मई में हिल स्टेशनों पर घूमने जाते हैं। पर्यटक स्थलों में उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, कश्मीर के साथ-साथ सिक्किम और दार्जिलिंग को पहली प्राथमिकता दी गई है। कश्मीर की मांग सबसे ज्यादा है। धारा ३७० हटने के बाद लोग कश्मीर देखने के लिए काफी उत्सुक हैं। पूरे मई महीने में हमारे पास अच्छी बुकिंग है। उन्होंने दो-तीन महीने पहले ही बुकिंग करा ली है।
-मकरंद जोशी, पर्यटन व्यवस्थापक
 हवाई जहाज का किराया बेतहाशा बढ़ गया है। चुनाव की तारीख का एलान हो चुका है। इसीलिए बुकिंग १ अप्रैल से शुरू होगी, लेकिन जिन लोगों ने पहले से बुकिंग कराई थी, उन्होंने वैंâसिल नहीं किया है।
-समीर देशमुख, पर्यटन व्यवसायी
 चूंकि सोशल मीडिया पर यह संदेश चल रहा था कि चुनाव २९ अप्रैल को होंगे, इसलिए कई परिवारों ने मई महीने के लिए बुकिंग कर ली। मतदान के दिन हम देश से बाहर होंगे, एक तरफ की उड़ान का खर्च करीब एक लाख है। एक सामान्य की यात्रा का खर्च ६ लाख रुपए हैं। चुनाव के लिए बुकिंग रद्द हुई तो भारी आर्थिक नुकसान होगा। वोट देना चाहते हैं, लेकिन दूसरी ओर आर्थिक स्थिति को झटका लगने से दुविधा है।
-गजानन दंगट, पर्यटक

अन्य समाचार

अब तक