मुख्यपृष्ठसमाचारभिवंडी मनपा के दो बड़े अधिकारियों के तबादले से मचा हड़कंप

भिवंडी मनपा के दो बड़े अधिकारियों के तबादले से मचा हड़कंप

– मनपाकर्मियों का चुनावी ड्यूटी व कर्मचारियों की कमी का जनता को भुगतना पड़ेगा खामियाजा

सामना संवाददाता / भिवंडी

लोकसभा चुनाव की पृष्ठभूमि में राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले किए जा रहे हैं। पांच महीने पहले पदभार संभालने वाले भिवंडी मनपा में अतिरिक्त आयुक्त संजय हेरवाडे व एकमात्र प्रशासनिक उपायुक्त दीपक झिंझाड़ का भी तबादला कर दिया गया है, जिसका मनपा के कामकाज पर विपरीत असर पड़ने की संभावना को लेकर मनपा में हड़कंप मच गया है।
लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद राज्य में प्रशासन द्वारा अधिकारियों के तबादले का दौर शुरू कर दिया गया है, जो अधिकारी तीन साल से एक ही स्थान पर काम कर रहे हैं, उन पर विचार किया जा रहा है। लेकिन नए नियम के मुताबिक, जिले में चुनाव आयोग के निर्देश पर भिवंडी मनपा में कार्यरत अतिरिक्त आयुक्त संजय हेरवाड़े और उपायुक्त मुख्यालय दीपक झिंझाड का शहरी विकास विभाग ने तबादला कर दिया है। दीपक मनपा में एकमेव प्रशासनिक उपायुक्त थे, जिनके पास सार्वजनिक स्वास्थ्य और स्वच्छता, स्थापना और कर निर्धारण विभाग की जिम्मेदारी थी। जो करीब तीन साल तक मनपा में उपायुक्त के पद पर रहते हुए कामकाज को अनुशासित बनाए रखा था। इनके तबादले से मनपा उपायुक्त विहीन हो गया है, जबकि संजय हेरवाडे पांच महीने पहले ही मनपा में अतिरिक्त आयुक्त के पद पर नियुक्त हुए थे और साफ-सफाई को लेकर अनुशासित हैं। लेकिन चूंकि वह उससे पहले ठाणे जिले में कार्यरत थे, इसलिए जिले में उनका कार्यकाल तीन वर्ष पूरा हो गया था, जिसके कारण उनका भी तबादला कर दिया गया है। मनपा अधिकारी की चुनाव में व्यस्तता, कर्मचारियों की कमी का खामियाजा अब आम जनता को उठानी पड़ सकती है, बल्कि कर्मचारियों के बेलगाम होने से इसका कामकाज पर विपरीत असर पड़ सकता है।

अन्य समाचार

अब तक